IPL versus Bigg Boss: Cricket wins the ratings game for now-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Nov 29, 2020 9:45 pm
Location
Advertisement

IPL बनाम बिग बॉस: रेटिंग गेम में क्रिकेट आगे

khaskhabar.com : मंगलवार, 20 अक्टूबर 2020 12:24 PM (IST)
IPL बनाम बिग बॉस: रेटिंग गेम में क्रिकेट आगे
नई दिल्ली। इस साल क्रिकेट मनोरंजन के बिग बॉस के रूप में उभरा है क्योंकि पिछले सालों की तुलना में इसकी रेटिंग बेहतर हुई है। ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बार्क) की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस साल क्रिकेट टूर्नामेंट के शुरूआती सप्ताह में 2019 की तुलना में प्रति मैच औसत इंप्रेशन में 21 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई, जबकि पिछले साल की तुलना में एक रोजाना एक मैच कम खेला जा रहा और चैनलों की संख्या भी कम रही।

रिपोर्ट में बताया गया है कि 2019 की तुलना में प्रति मैच 11 मिलियन (1.1 करोड़) दर्शकों के साथ आईपीएल को शुरूआती सप्ताह में कुल 269 मिलियन (26.9 करोड़) दर्शकों ने देखा। महीनों की अनिश्चितता के बाद आईपीएल का 13 वां संस्करण 19 सितंबर को शुरू हुआ था।

वहीं विवादास्पद रियलिटी शो 'बिग बॉस' 13वें सफल सीजन के बाद 3 अक्टूबर को 14वें सीजन के साथ शुरू हुआ। जिसमें नए हाउसमेट्स के साथ पुराने सीजन के स्टार प्रतिभागी भी नजर आ रहे हैं। इसके बाद भी यह शो शुरूआती सप्ताह में टॉप 5 में जगह बनाने में विफल रहा।

हालांकि व्यूइंग मिनट के मामले में इसका रिकॉर्ड अच्छा रहा। हिंदी भाषी बाजार (शहरी) में सीजन 14 के लॉन्च सप्ताह के लिए व्यूइंग मिनट 3.1 अरब रहे जो कि सीजन 13 के 2.5 अरब, सीजन 12 के 2.6 अरब और सीजन 11 के 2 अरब मिनट से बेहतर था। वहीं हिंदी भाषी बाजार (शहरी और ग्रामीण) में लॉन्चिंग वाले हफ्ते में 3.9 अरब मिनट देखा गया। जबकि सीजन 13 और 12 में यह 3.4 अरब मिनट और सीजन 11 में 2.5 अरब मिनट रहा।

इण्डस्ट्री एनालिस्ट गिरीश जौहर ने आईएएनएस से कहा, "मुझे यकीन है कि आईपीएल ने चर्चा को खासा बढ़ाया है। लोग न केवल चैनल पर, बल्कि स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पर भी मैच देख रहे हैं। आईपीएल को लेकर संख्या बहुत अच्छी है। मैच में सुपर ओवर ज्यादा हैं, जिससे सभी में उत्साह है।"

ट्रेड एनालिस्ट राजेश थडानी कहते हैं, "आईपीएल बेहतर स्कोर कर रहा है। बिग बॉस उतना अच्छा नहीं कर रहा है। इस बार के मैच बहुत ही दिलचस्प हैं, सुपर ओवर हो रहे हैं और भी कई चीजें हैं जिसके कारण आईपीएल दिलचस्प हैं।"

हालांकि आईपीएल से विवो ने टाइटल स्पांसरशिप वापस ले ली थी। इस ब्रांड ने पांच साल (2019-2023) के लिए 2,199 करोड़ रुपये या प्रति वर्ष 440 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। खैर, इसकी जगह लीग को गेमिंग कंपनी ड्रीम 11, एडटेक यूनिकॉर्न एकैडमी और टाटा मोटर्स अल्ट्रोज और सीएट टायर्स जैसे कई प्रायोजक मिले।

बार्क के अनुसार विज्ञापनों में भी 15 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है। वैसे यह बात अहम है कि 'बिग बॉस' की शुरूआत आईपीएल के बाद हुई थी ऐसे में इसके बाद में ट्रैक पर आने की उम्मीद है।

10 नवंबर को आईपीएल खत्म होने के बाद 'बिग बॉस' के छोटे पर्दे पर अच्छा रंग जमाने की संभावना है। हालांकि, यह इस बात पर निर्भर करता है कि शो कैसे आगे बढ़ता है और क्या प्रतियोगी नई ट्रिक्स के साथ दर्शकों का ध्यान खींचने में सफल हो पाते हैं। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement