Will India be successful in repeating history in Manchester!-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 16, 2019 10:44 am
Location
Advertisement

क्या मैनचेस्टर में इतिहास दोहराने में सफल होगा भारत?

khaskhabar.com : शनिवार, 15 जून 2019 12:18 PM (IST)
क्या मैनचेस्टर में इतिहास दोहराने में सफल होगा भारत?
नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें 16 जून को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्राफोर्ड मैदान पर आईसीसी विश्व कप मुकाबले में आमने-सामने होंगी। विश्व कप में दोनों टीमों के बीच यह अब तक का सातवां मैच होगा और हर बार भारत ने बाजी मारी है।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या पाकिस्तान मैनचेस्टर में इतिहास बदलते हुए भारत के खिलाफ क्रिकेट के महाकुम्भ में पहली जीत दर्ज कर पाएगा या फिर विराट कोहली की टीम आईसीसी इवेंट्स में अपने पूर्ववर्तियों के रिकार्ड को कायम रख सकेगी?

वनडे क्रिकेट की बात की जाए तो पाकिस्तान का रिकार्ड भारत से बेहतर है। दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 131 मैच हुए हैं, जिनमें से 73 में पाकिस्तान ने और 54 में भारत ने जीत हासिल की है। चार मैचों के परिणाम नहीं निकल सके हैं। इससे अलग अगर टेस्ट मैचों की बात की जाए तो दोनों टीमों के बीच कुल 59 मैच हुए हैं, जिनमें से 12 पाकिस्तान ने और 9 भारत ने जीते हैं। 38 मैच ड्रॉ रहे हैं।

आईसीसी इवेंट्स की बात कुछ अलग है। भारत ने छह बार आईसीसी विश्व कप (50 ओवर) में पाकिस्तान का सामना किया है और हर बार विजेता बनकर उभरा है। उसी तरह आईसीसी टी-20 विश्व कप में दोनों टीमों के बीच अब तक पांच मुकाबले हुए हैं और यहां भी भारतीय टीम का वर्चस्व रहा है।

चैम्पियंस ट्रॉफी की कहानी कुछ अलग है। अगर भारत ने 2011 विश्व कप (50 ओवर) में पाकिस्तान को सेमीफाइनल में हराकर फाइनल में प्रवेश किया था और फिर श्रीलंका को हराकर दूसरी बार खिताब जीता था तो पाकिस्तान ने 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी फाइनल में भारत को 180 रनों से करारी शिकस्त देकर उस हार का हिसाब बराबर किया था।

पाकिस्तान को चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत के खिलाफ उसका प्रदर्शन 16 जून को होने वाले महामुकाबले के लिए शक्ति प्रदान करेगा। इन दोनों टीमों के बीच अब तक कुल पांच मुकाबले हुए हैं, जिनमें तीन बार पाकिस्तान और दो बार भारत को जीत मिली है। भारत 2002 और 2013 में भी फाइनल में पहुंचा था। 2002 में वह श्रीलंका के साथ संयुक्त विजेता बना था जबकि 2013 में उसने इंग्लैंड को हराकर खिताब जीता था।

इसी तरह अगर, महाद्वीपीय आयोजनों की बात की जाए तो एशिया कप, एशिया कप टी-20 में भारत का प्रदर्शन बेहतर रहा है। भारत ने एशिया कप में पाकिस्तान के साथ कुल आठ मैच खेले हैं और छह में जीत हासिल की है जबकि एशिया टी-20 में दोनों टीमों के बीच एक मैच खेला गया है, जिसमें भारत विजेता रहा था। हां, एशियाई टेस्ट चैम्पियनशिप में पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ एक मैच में जीत हासिल की है।

सीनियर ही नहीं, जूनियर स्तर पर भी भारत का अपने इस पड़ोसी के खिलाफ बोलबाला रहा है। यू-19 क्रिकेट विश्व कप में दोनों टीमों के बीच अब तक कुल छह मैच हुए हैं, जिनमें से चार में भारत को जीत मिली है। इसी तरह यू-19 एशिया कप में दोनों के बीच सात मैच हुए हैं, जिनमें से छह में भारत ने बाजी मारी है।

पुरुषों के अलावा महिला क्रिकेट में भारत का वर्चस्व रहा है। महिला एशिया कप में दोनों टीमों के बीच चार मैच हुए हैं और हर बार भारत जीता है। इसके अलावा महिला टी-20 एशिया कप में दोनों टीमों के बीच दो मुकाबले हुए हैं और दोनों ही बार भारत जीता है।

1975 में शुरू हुए विश्व कप की बात करें तो दोनों टीमों के बीच 1992 में पहला मुकाबला खेला गया था। यह वही साल था, जब इमरान खान के नेतृत्व में पाकिस्तान पहली बार चैम्पियन बना था। हालांकि, उसे इस संस्करण में भी भारत के हाथों हार मिली थी।

इसके बाद 1996, 1999, 2003, (2007 में दोनों टीमों के बीच कोई मुकाबला नहीं हुआ था, क्योंकि भारत ग्रुप चरण से ही बाहर हो गया था), 2011 (सेमीफाइनल मैच मोहाली में खेल गया था) और 2015 में भारत ने पाकिस्तान को हराते हुए अजेय क्रम बरकरार रखा है।

मौजूदा विश्व कप की बात की जाए तो भारत ने अब तक तीन मुकाबले खेले हैं। उसे दो में जीत मिली है जबकि उसका एक मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था। भारतीय टीम पांच अंकों के साथ 10 टीमों की तालिका में तीसरे स्थान पर है जबकि पाकिस्तान ने चार मैच खेले हैं और दो में हार तथा एक में जीत मिली है। उसका भी एक मैच रद्द हुआ है। यह टीम तीन अंकों के साथ आठवें स्थान पर है।

(आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement