The year 2017 was special for Indian Badminton Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Nov 22, 2019 5:41 pm
Location
Advertisement

भारतीय बैडमिंटन के लिए खास रहा साल 2017, इन्होंने बटोरीं सुर्खियां

khaskhabar.com : बुधवार, 27 दिसम्बर 2017 7:40 PM (IST)
भारतीय बैडमिंटन के लिए खास रहा साल 2017, इन्होंने बटोरीं सुर्खियां
श्रीकांत के लिए हालांकि, साल की शुरुआत धीमी थी। शुरुआत में कुछ टूर्नामेंट में उन्हें निराशा हाथ लगी। इनमें सैयद मोदी ग्रां.प्री और इंडिया ओपन रहे। लेकिन, 18 जून को इंडोनेशिया ओपन जीतकर श्रीकांत ने अपनी लय हासिल की। उन्होंने केवल यह खिताब नहीं जीता, बल्कि इसे अपने नाम करने वाले भारत के पहले पुरुष खिलाड़ी बन गए।

राष्ट्रीय बैडमिंटन टीम के कोच गोपीचंद के शिष्य श्रीकांत का सफर यहीं नहीं रुका। इसके बाद उन्होंने आस्ट्रेलिया ओपन में भी जीत हासिल की। इन दोनों खिताबों को जीतने से पहले वह सिंगापुर ओपन के फाइनल तक का सफर तय कर गए थे। कई दिग्गजों को मात देते हुए एक टूर्नामेंट के फाइनल तक पहुंचने और दो टूर्नामेंटों में खिताबी जीत हासिल करने वाले श्रीकांत विश्व रैंकिंग में 22वें स्थान से बड़ी छलांग लगाते हुए शीर्ष 10 खिलाडिय़ों की सूची में शामिल हो गए। विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में उन्हें निराशा हाथ लगी। वह क्वार्टर फाइनल में हारकर बाहर हो गए।

श्रीकांत ने इसके बाद डेनमार्क ओपन और फ्रेंच ओपन सुपरसीरीज खिताब जीता। वह एक साल में चार सुपरसीरीज खिताब जीतने वाले चौथे खिलाड़ी बन गए। उन्होंने इस क्रम में लिन डान, ली चोंग वेई और चेन लोंग की बराबरी कर ली। उन्होंने इन उपलब्धियों से अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिग हासिल की। वह विश्व रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंचे। वर्तमान में वह तीसरे स्थान पर हैं।

पी.वी. सिंधु


ये भी पढ़ें - रोहित इस मामले में इन्हें पछाड़ आए पहले स्थान पर, देखें टॉप...

2/5
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement