For the South Africa tour, many young players increased the tension of the Indian selectors-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jan 27, 2022 8:50 pm
Location
Advertisement

दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए कई युवा खिलाड़ियों ने भारतीय चयनकर्ताओं की बढ़ाई टेंशन

khaskhabar.com : शनिवार, 27 नवम्बर 2021 6:06 PM (IST)
दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए कई युवा खिलाड़ियों ने भारतीय चयनकर्ताओं की बढ़ाई टेंशन
नई दिल्ली। कई युवा प्रतिभाशाली खिलाड़ी टीम में जगह बनाने के लिए कड़ी मेहनत के साथ अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। इसलिए, चयनकर्ता और भारतीय क्रिकेट टीम आगामी दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए खिलाड़ियों का चयन करने में दुविधा में पड़ सकती है।

भारत अपने छह बड़े खिलाड़ियों के बिना कानपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट खेल रहा है, जिसमें विराट कोहली, रोहित शर्मा, ऋषभ पंत, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी को आराम दिया गया है, जबकि केएल राहुल चोट लगने के कारण बाहर है। अजिंक्य रहाणे टीम की अगुवाई कर रहे हैं, हालांकि कोहली मुंबई में दूसरे टेस्ट के लिए वापसी करेंगे और टीम की कप्तानी संभालेंगे।

पिछली बार ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कई भारतीय खिलाड़ी चोटिल हो गए थे, इसके बाद युवा खिलाड़ियों ने बेहतर प्रदर्शन किया था, लेकिन न्यूजीलैंड के साथ टेस्ट सीरीज के लिए कई बड़ेे खिलाड़ियों को आराम दिया गया है।

इंग्लैंड के खिलाफ भारत की टेस्ट सीरीज के दौरान रोहित और राहुल ने पारी की शुरुआत की थी और टीम के लिए बेहतर प्रदर्शन किए थे। अब उनकी अनुपस्थिति में शुभमन गिल और मयंक अग्रवाल ने कानपुर में पहले टेस्ट की पहली पारी में सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाई। जहां मयंक ने 13 रन बनाए और गिल ने 52 रन की बेहतरीन पारी खेली।

बता दें कि गिल और अग्रवाल दोनों पहले भारत के लिए विदेशी परिस्थितियों में सलामी बल्लेबाजी कर चुके हैं।

दक्षिण अफ्रीका सीरीज में जाने से पहले भारत के पास अब रोहित, राहुल, शुभमन और मयंक के रूप में अपने सलामी बल्लेबाजों को चुनने के लिए चार विकल्प होंगे। दिलचस्प बात यह है कि ये चारों मध्य क्रम में भी बल्लेबाजी कर सकते हैं।

इस बीच, श्रेयस अय्यर ने भी कोहली की अनुपस्थिति में मौके का अच्छा फायदा उठाया। मध्य क्रम में बल्लेबाजी करते हुए, उन्होंने अपना पहला टेस्ट डेब्यू शतक बनाया। हालांकि, यह देखना दिलचस्प होगा कि जब विराट अगले टेस्ट के लिए आते हैं तो क्या अय्यर को टीम में मौका दिया जाएगा या नहीं। लेकिन राहुल अभी भी चोट के कारण बाहर हैं।

शानदार शतक के साथ टेस्ट क्रिकेट में अय्यर का आगमन और गिल के रनों के बीच वापसी निश्चित रूप से रहाणे और पुजारा पर दबाव बनाएगी। दोनों पिछले दो सालों से लगातार खराब प्रदर्शन कर रहे हैं और टीम में उनका स्थान भारतीय प्रशंसकों और विशेषज्ञों के बीच भी चर्चा का विषय बन गया हुआ है। मौजूदा पहले टेस्ट में पुजारा (26) और रहाणे (35) रन ही बना सके।

दक्षिण अफ्रीका सीरीज के लिए भारतीय टीम की घोषणा कुछ दिनों में की जाएगी और भले ही अनुभवी जोड़ी को उस टीम न लिया जाए। इस पर कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच राहुल द्रविड़ को कुछ कठोर निर्णय लेने पड़ सकते हैं। दूसरी तरफ, सूर्यकुमार यादव भी हैं, जिन्होंने घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है। वह भी टीम में आने की दस्तक दे रहे हैं।

इसके अलावा, ऋषभ पंत को भी टेस्ट सीरीज के लिए आराम दिया गया है और रिद्धिमान साहा और भारत विकेटकीपर के रूप में खेल रहे हैं। लेकिन, उनकी गर्दन में आई समस्या के बाद भरत को तीसरे दिन मैदान पर विकेटकीपर के रूप में उतरना पड़ा।

भारतीय गेंदबाज इशांत शर्मा, उमेश यादव, मोहम्मद सिराज, प्रसिद्ध कृष्णा और स्पिनर रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, अक्षर पटेल और जयंत यादव को कीवी टीम के खिलाफ मौजूदा सीरीज के लिए चुना गया है जबकि जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी जैसे अनुभवी खिलाड़ी सीरीज के बाद वापसी करेंगे।

जरूरत पड़ने पर चयन के लिए शार्दुल ठाकुर और भुवनेश्वर कुमार जैसे खिलाड़ियों पर भी विचार किया जा सकता है। एक फिट वाशिंगटन सुंदर, जिसने पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अच्छा प्रदर्शन किया था, वह भी एक अच्छा विकल्प है।

नए युवा खिलाड़ियों को देखते हुए चयनकर्ता और भारतीय टीम प्रबंधन को निश्चित रूप से दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए टीम के चयन में दुविधा आने वाली है।

भारतीय क्रिकेट टीम दिसंबर के मध्य से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चार स्थानों जोहान्सबर्ग, सेंचुरियन, पार्ल और केप टाउन में तीन टेस्ट, तीन वनडे और चार टी20 मैच खेलने वाली है। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement