Erapalli Prasanna shares his experience with IANS-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 20, 2019 9:48 am
Location
Advertisement

जानें : प्रसन्ना की क्रिकेट मैदान और निजी जिंदगी से जुड़ी बातें

khaskhabar.com : बुधवार, 03 अप्रैल 2019 1:18 PM (IST)
जानें : प्रसन्ना की क्रिकेट मैदान और निजी जिंदगी से जुड़ी बातें
नई दिल्ली। भारत के महानतम ऑफ स्पिनरों में शुमार ईरापल्ली प्रसन्ना (78) का नाम बेहद अदब से लिया जाता है। यह वह खिलाड़ी है जिसने विंडीज के दिग्गज बल्लेबाजों को अपनी फिरकी से नचाया है। आज प्रसन्ना समय की बांसुरी पर खुद नाच रहे हैं। उन्हें इससे कोई शिकायत नहीं है क्योंकि वे खुद समय को अपने ऊपर हावी होने देना चाहते हैं। मौजूदा समय में वे अपनी पत्नी तथा बेटी के साथ समय बिता रहे हैं।

प्रसन्ना अब जीवन में कुछ खास नहीं कर रहे हैं। वे कहते हैं कि मेरी कोशिश एक सुखी जीवन जीने की है। आईएएनएस की विशेष सीरीज वेयर दे आर (वे कहां हैं) के लिए जब प्रसन्ना से बात की गई तो उन्होंने तफ्सील से बात करते हुए कहा कि मैं समय को अपने ऊपर हावी होने दे रहा हूं। प्रसन्ना ने कहा, मैं कुछ नहीं कर रहा। मैं समय को अपने ऊपर हावी होने दे रहा हूं। मैं अपनी पत्नी और बेटी के साथ रहा हूं। मेरी कोशिश सुखी जीवन जीने की है।

मैं अपनी तरह से जिंदगी जी रहा हूं। थोड़ा बहुत गोल्फ खेलता हूं। एक पछतावा जो शायद मुझे है वो यह है कि बोर्ड अभी जिस तरह पुराने खिलाडिय़ों पर ध्यान दे रहा है उसकी तुलना में वह और अच्छे से पुराने खिलाडिय़ों की देखभाल कर सकता था। प्रसन्ना ने भारत के लिए अपना आखिरी टेस्ट मैच लाहौर में 1978 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था। संन्यास के बाद प्रसन्ना ने अपने पिता की बात का अनुसरण किया जिन्होंने प्रसन्ना से हमेशा जमीन से जुड़ा रहने को कहा था।

अपने पिता की सीख पर यह ऑफ स्पिनर अभी तक चल रहा है। संन्यास के बाद अपने जीवन के बारे में बताते हुए प्रसन्ना ने कहा कि मेरे पिता ने मुझसे उनकी मौत से पहले एक बात कही थी कि याद रखो तुम ब्लॉक ए से शुरुआत कर रहे हो तुम जहां भी जाओगे लौटकर ब्लॉक ए पर ही आओगे।

तुम नए स्तर पर जाओगे तो तुम्हारी सोच भी बदलेगी लेकिन जो जीवन तुम ब्लॉक ए में जी रहे हो तुम्हें वहीं पर लौटकर आना है। इसलिए इसे मत भूलना मैं संन्यास के बाद भी डाउन टू अर्थ इंसान रहा। मैंने अपने फेम को ज्यादा तवज्जो नहीं दी, हालांकि मुझे ज्यादा फेम मिला भी नहीं, लेकिन कोई बात नहीं। मेरे पास जो भी फेम था उसे मैंने भगवान की कृपा माना।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement