Burst Inside Club East Bengal-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 16, 2019 1:55 pm
Location
Advertisement

दिग्गज क्लब ईस्ट बंगाल के अंदर बढ़ी दरार

khaskhabar.com : बुधवार, 01 मई 2019 5:26 PM (IST)
दिग्गज क्लब ईस्ट बंगाल के अंदर बढ़ी दरार
नई दिल्ली। सुपर कप फुटबाल टूर्नामेंट में हिस्सा न लेने के कारण अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) की अनुशासनात्मक समिति के साथ रविवार को हुई बैठक के बाद दिग्गज फुटबाल क्लब ईस्ट बंगाल के अंदर दरार और बढ़ गई है।

क्लब के आधिकारी देबब्रत सरकार ने कहा कि टूर्नामेंट से नाम वापस लेना एक भूल थी जबकि उसके प्रायोजक क्वेस ऐसा नहीं मानते।

आईएएनएस से बात करते हुए क्वेस के एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि उन्हें क्लब के अधिकारी द्वारा दिए गए इस प्रकार के बयान के बारे में जानकारी नहीं है, जिसमें क्लब ने टूर्नामेंट से नाम वापस लेने के निर्णय पर खेद व्यक्त की हो।

अधिकारी ने कहा, ‘‘हमने इस प्रकार का कोई भी बयान जारी नहीं किया है और अगर हम कोई बयान जारी करेंगे तो वह सभी संबंधित पार्टियों को जाएगा।’’

दूसरी ओर, सरकार ने कहा, ‘‘हमने गलती की और अन्य क्लबों ने भी गलतियां की। एआईएफएफ राष्ट्रीय बोर्ड है जो क्लबों की उसी तरह देखभाल करता है जैस माता-पिता अपने बच्चों की इसलिए हमें उम्मीद है कि वे क्लबों के खिलाफ कड़ा रुख नहीं अपनाएंगे।’’

क्वेस के अधिकारी को हालांकि, एक अन्य क्लब गोकुलाम एफसी के अधिकारी का भी समर्थन मिला है। गोकुलाम के खिलाफ भी सुपर कप में भाग न लेने के लिए अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा रही है, लेकिन अधिकारी ने स्पष्ट किया कि उनके निर्णय को एक गलती बताने का कोई कारण नहीं है।

अधिकारी ने कहा कि सरकार ने महासंघ के साथ हुई बैठक के बाद कुछ भी कहा हो लेकिन क्वेस के चेयरमैन अजीत आईजक ने कही भी यह नहीं बताया कि क्लब को टूर्नामेंट में भाग न लेने पर खेद है।

आईएएनएस से अधिकारी ने कहा, ‘‘अजीत ने ऐसा कुछ भी नहीं कहा है। हमारे पास क्लब के अधिकारी द्वारा दिए गए बयान पर कुछ बोलने के लिए भी नहीं है। ऐसा नहीं है कि हमने सुपर कप में भाग नहीं लेने चाहते थे, लेकिन हमें ऐसा करने पर मजबूर किया गया (महासंघ प्रमुख प्रफुल्ल पटेल के आई-लीग क्लबों से न मिलने के कारण)।’’

गोकुलम के अलावा, मिनर्वा पंजाब और आईजोल एफसी ने भी सुपर कप में भाग नहीं लिया था।
(आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement