BFI president ajay singh says, We need hardwork for strongness of domestic circuit Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 17, 2022 1:30 pm
Location
Advertisement

‘घरेलू सर्किट को मजबूत करने के लिए है काफी मेहनत की जरूरत’

khaskhabar.com : गुरुवार, 02 मई 2019 2:03 PM (IST)
‘घरेलू सर्किट को मजबूत करने के लिए है काफी मेहनत की जरूरत’
अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) और अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक संघ (आईओसी) के बीच विवाद के चलते मुक्केबाजी को टोक्यो ओलम्पिक-2020 में शामिल करने पर काले बादल मंडरा रहे हैं। आईओसी ने पूर्व अध्यक्ष गाफुर राखिमोव के आपराधिक मामलों में संलिप्तता, वित्तीय गड़बडिय़ों और प्रशासनिक खामियों के कारण मुक्केबाजी का टोक्यो ओलम्पिक-2020 में हिस्सेदारी को लटका दिया है।

इसी कारण राखिमोव ने इस्तीफा दे दिया था और मोहम्मद मुश्ताशाने को अंतिरम अध्यक्ष नियुक्त किया था। राखिमोव पर हालांकि अभी तक आरोप साबित नहीं हुए हैं। एआईबीए के इलीट फाउंडेशन के प्रमुख अजय सिंह से जब यह सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि वह अपने स्तर पर इस विवाद को सुलझाने के लिए अपने सुझाव दे रहे हैं और उम्मीद जताई की यह विवाद जल्दी खत्म होगा।

अजय ने कहा, एआईबीए और आईओसी का जो विवाद है, उम्मीद है कि वो जल्दी खत्म हो जाएगा। इसमें हम उनकी मदद करने की काफी कोशिश कर रहे हैं। हम सभी चाहते हैं कि यह एक क्लीन स्पोर्ट रहे। इसमें अतीत में जो समस्याएं आई हैं, वो नहीं आए। एआईबीए कोशिश कर रहा है कि जो समस्याएं अतीत में आई हैं वो नहीं आए और एक पारदर्शिता बनाई जाए।

सब लोग एकजुट होकर काम कर रहे हैं। बीएफआई के तौर पर हमने अपने सुझाव दिए हैं। भारत की विश्व मुक्केबाजी जगत में अच्छी धाक है इसलिए वो हमसे लगातार चर्चा करते रहते हैं। हम यही चाहते हैं कि आईबा और आईओसी के रिश्ते बेहतर हों।

ये भी पढ़ें - 35 साल की मैरी कॉम ने अब तक हासिल की ये उपलब्धियाँ....

2/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement