Yogi transfers five officers for neglecting work-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 7, 2020 11:53 pm
Location
Advertisement

योगी ने चित्रकूट में खामियां देख 5 अफसरों को हटाया

khaskhabar.com : रविवार, 15 सितम्बर 2019 6:00 PM (IST)
योगी ने चित्रकूट में खामियां देख 5 अफसरों को हटाया
चित्रकूट । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शनिवार को चित्रकूट दौरे के दौरान अपने कड़े तेवर दिखाए। विकास कार्यो की समीक्षा और अस्पताल निरीक्षण के दौरान कार्य में शिथिलता दिखने पर उन्होंने सीएमएस व सीएमओ के बाद तीन एसडीएम को भी चित्रकूट से हटाकर दूसरे जिलों में तबादला कर दिया। इनकी जगह काम में तेज माने जाने वाले अधिकारियों को तैनात किया गया है। आधिकारिक तौर पर बताया गया है कि तीन एसडीएम- गाजियाबाद से राजबहादुर, हरदोई से राम प्रकाश तथा बाराबंकी से अभय पांडेय को क्रमश: चित्रकूट सदर, मऊ व चित्रकूट में तैनाती मिली है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला के अस्पतालों का भी निरीक्षण किया। वहां खामियां मिलने पर मुख्यमंत्री योगी की गाज मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) पर गिरी। दोनों अफसरों का तत्काल प्रभाव से दूसरे जनपद में तबादला कर यहां नए अधिकारियों को तैनाती दी गई है।

मुख्यमंत्री ने जिला अस्पताल निरीक्षण के दौरान ही सीएमओ व जिलाधिकारी से व्यवस्था बेहतर करने को कहा था। उनके यहां से जाते ही लखनऊ से दोनों के तबादले का फरमान आ गया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेंद्र सिंह को चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक पद पर कानपुर मंडल भेजा गया है। उनकी जगह यहां बांदा जिला चिकित्सालय के वरिष्ठ परामर्शदाता डॉ. विनोद कुमार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी की कुर्सी संभालेंगे। बांदा के वरिष्ठ बालरोग विशेषज्ञ डॉ.आर.के. गुप्ता को कर्वी जिला अस्पताल का मुख्य चिकित्सा अधीक्षक बनाया गया है। यहां अभी तक तैनात अधीक्षक डॉ.एस.एन. मिश्रा अब बांदा जिला चिकित्सालय में वरिष्ठ परामर्शदाता का जिम्मा संभालेंगे।

सुबह जिला अस्पताल पहुंचे योगी ने बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने की हिदायत दी और कर्वी सोनेपुर रोड स्थित अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड व ओपीडी में घूमकर जायजा लिया था। इस दौरान मुख्यमंत्री ने डीएम शेषमणि पांडेय, सीएमओ डॉ. राजेंद्र सिंह को बुलाकर गरीब को स्वास्थ्य सेवाएं मिलने में दिक्कत नहीं होने देने की बात कही। उन्होंने कुछ मरीजों से बातचीत कर खामियों पर शिकायत दर्ज कराने को भी कहा। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement