Yogi said on the eve of by-election in Rampur: SP betrayed the public-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 19, 2022 12:57 am
Location
Advertisement

योगी रामपुर में उपचुनाव की पूर्व संध्या पर बोले : सपा ने जनता को धोखा दिया

khaskhabar.com : मंगलवार, 21 जून 2022 6:37 PM (IST)
योगी रामपुर में उपचुनाव की पूर्व संध्या पर बोले : सपा ने जनता को धोखा दिया
रामपुर (यूपी) । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को रामपुर में समाजवादी पार्टी (सपा) पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि सपा और उसके नेताओं ने ही रामपुर की जनता को धोखा दिया है। समाजवादी पार्टी के मौजूदा सांसद आजम खां के इस साल मार्च में उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए चुने जाने के बाद रामपुर लोकसभा क्षेत्र में 23 जून को उपचुनाव होना है।

एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने कहा, "भाजपा की डबल इंजन सरकार ने गरीबों को भू-माफिया से मुक्त करने के लिए काम किया। उन्होंने (सपा) सत्ता खो दी, लेकिन उनका रवैया नहीं। भाजपा रामपुर को फिर से 'आतंकवाद का अड्डा' नहीं बनने देगी।"

मुख्यमंत्री भाजपा प्रत्याशी घनश्याम सिंह लोधी के समर्थन में उपचुनाव से पहले बिलासपुर और मिलक में जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा, "पहले भू-माफिया गरीबों की जमीन पर कब्जा करते थे और अक्सर उनका दमन करते थे। सत्ता में आने के बाद हमारी सरकार ने गरीबों को जमीन वापस दी और ऐसे माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई की और उन्हें वाजिब सजा भी दी।"

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर जिले की अपनी विरासत होती है, लेकिन कुछ लोगों ने रामपुर की विरासत को नष्ट करने की कोशिश की।

उन्होंने कहा, "अगर कोई रामपुर की विरासत को नष्ट करने की कोशिश करता है, तो जनता उन्हें सबक सिखाना जानती है। आज गरीबों की जमीन पर कब्जा करने की हिम्मत कोई नहीं कर सकता।"

आदित्यनाथ ने सपा पर गरीबों की संपत्ति पर कब्जा करने के लिए कथित तौर पर 'रामपुरी चाकू का इस्तेमाल करने' का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, "रामपुरी चाकू किसे देना है, यह आप पर निर्भर करता है। अच्छे लोगों के हाथों में इसका इस्तेमाल गरीबों और दलितों की रक्षा के लिए किया जाएगा, लेकिन जनता की संपत्ति को लूटने और कब्जा करने के लिए गलत लोग इसका दुरुपयोग करेंगे।"

मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ता में आने के बाद उनकी सरकार ने रामपुर में भू-माफियाओं से करीब 640 हेक्टेयर जमीन वापस लेकर गरीबों को दे दी।

पिछली सरकार के साथ अपनी सरकार की तुलना करते हुए आदित्यनाथ ने कहा, "अंतर स्पष्ट है। समाजवादी पार्टी सरकार के दौरान दंगों के आरोपियों को मुख्यमंत्री आवास पर बुलाया और सम्मानित किया गया था। 2017 के बाद छात्रों को सम्मानित किया जाता है और प्रमुख पर गुरबानी का पाठ किया जाता है। मंत्री निवास। हम साहिबजादों की याद में 'बाल दिवस' भी आयोजित कर रहे हैं।"

कोविड-19 महामारी के दौरान अपनी सरकार द्वारा किए गए कार्यो पर प्रकाश डालते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सक्षम नेतृत्व में डबल इंजन शासन ने लोगों को मुफ्त राशन, मुफ्त इलाज और मुफ्त टीके उपलब्ध कराए।

उन्होंने कहा, "हम समस्याएं पैदा नहीं करते, बल्कि हम उनका समाधान करते हैं। यही कारण है कि वैश्विक स्तर पर भारत का सम्मान किया जा रहा है।"

आजम खां पर परोक्ष हमले में उन्होंने कहा, "हमने बिना किसी भेदभाव के सभी को मुफ्त टीका दिया। दरअसल, जो लोग जेल में थे, उनका भी मुफ्त इलाज किया गया, लेकिन उन्होंने इसे स्वीकार भी नहीं किया।"

आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों पर सशस्त्र बलों के लिए अग्निपथ भर्ती योजना पर साजिश रचने और युवाओं को गुमराह करने का भी आरोप लगाया।

उन्होंने युवाओं से अपील की कि सशस्त्र बलों के लिए नई भर्ती योजना के खिलाफ विपक्ष के 'प्रचार' से गुमराह न हों, उनका दावा है कि यह उनके हित में है।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement