Winnie Mahajan said Punjab Government Committed To Transfer MSMEs Into Big Industries-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jan 18, 2020 12:02 am
Location
Advertisement

पंजाब सरकार एमएसएमई को बड़े उद्योगों में तबदील करने के प्रति वचनबद्ध- विनी महाजन

khaskhabar.com : गुरुवार, 05 दिसम्बर 2019 9:24 PM (IST)
पंजाब सरकार एमएसएमई को बड़े उद्योगों में तबदील करने के प्रति वचनबद्ध- विनी महाजन
चंडीगढ़/मोहाली। राज्य में लघु, छोटे और मध्यम उद्योगों (एम.एस.एम.ई ) को औद्योगिक विकास का केंद्र बताते हुए अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग और इनवेस्ट पंजाब, विनी महाजन ने गुरुवार को बताया कि पंजाब सरकार एम.एस.एम.ई को बड़े उद्योगों में तबदील करने प्रति वचनबद्ध है।
प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन मौके पर संबोधन करते हुए विनी महाजन ने राज्य में एम.एस.एम.ई क्षेत्र को मजबूत करने कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा किए गए विभिन्न प्रयासों संबंधी विस्तार में बताया।
औद्योगिक वृद्धि में हिस्सेदार बनाने संबंधी-
ग्लोबल वैल्यू चेन में एम.एस.एम.ई सैशन को संबोधन करते हुए महाजन ने इज़ टू डुईंग बिजनेस के लिए नई औद्योगिक नीति, उद्योगों को सब्सिडी के साथ 5 रुपए प्रति यूनिट बिजली, जी.एस.टी. और बिजली ड्यूटी पर रियायतें, जमीन की ऑनलाईन मल्कीयत, ऑनलाईन जांच प्रणाली और वित्तीय सुविधाओं पर भी रोशनी डाली।
उन्होंने कहा कि एम.एस.एम.ई को और सुविधाएं प्रदान करने पंजाब सरकार ने 700 एम.एस.एम.ई लाभार्थियों को 1100 करोड़ रुपए का कर्ज मुहैया करवाने के लिए एच.डी.एफ.सी. बैंक के साथ हिस्सेदारी की है। इस समझौते के अंतर्गत बैंक राज्य के सभी उद्योगों को कारोबारी कर्ज के लिए विशेष कीमत की पेशकश कर रहा है।
महाजन ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य के फोकल प्वाइंटों के बुनियादी ढांचे को अपग्रेड करने के लिए 200 करोड़ रुपए खर्च करेगी। उन्होंने कैबिनेट के फैसलों एम.एस.एम.ई के लिए व्यापारिक अधिकार को मंजूरी, औद्योगिक विवाद एक्ट में संशोधन, फैक्ट्री एक्ट और पंचायतों को शामलात जमीनों पर औद्योगिक पार्क बनाकर राज्य के औद्योगिक विकास में हिस्सेदार बनने की इजाज़त देने के फैसलों का हवाला दिया।
इस मौके पर पंजाब के उद्योग और वाणिज्य मंत्री सुन्दर शाम अरोड़ा ने पंजाब आधारित एम.एस.एम.ई को नये बाजारों तक पहुंचने योग्य बनाने के लिए ऐमैजॉन और फलिप्पकार्ट जैसे प्रमुख ई-कॉमर्स दिग्गजों के साथ समझौतों पर हस्ताक्षर किए। अरोड़ा ने कहा कि राज्य सरकार ने ऐमजॉन के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए है, जिससे अमरीका, कनेडा और यूरोप के मुख्य बाजारों सहित बी 2 बी संपर्क के साथ जुड़ सकेंगे, जबकि सरकार ने एम.एस.एम.ई. को नए घरेलू बाजारों तक पहुंचाने योग्य बनाने के लिए फलिप्पकार्ट के साथ भी समझौता सहीबद्ध किया है। इससे राज्य में हैंडलूम और छोटे उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए फलिप्पकार्ट से भी समझौता सहीबद्ध किया है।
एम.एस.एम.ई सैशन का संचालन के.पी.एम.जी. के डिप्टी सी.ई.ओ. अखिल बांसल ने किया और इस सैशन में संधार टेक्नोलॉजी के जयंत डावर, आई.टी.सी. से सचिद मदान, विश्व बैंक से भावना भाटिया, कैपिटल स्मॉल फाइनेंस बैंक से सर्वजीत सिंह समरा और यू.एन.आई.डी.ओ. से डाॅ. रैन वैन बरकल ने हिस्सा लिया।
सेशन के दौरान भाग लेने वालों ने पंजाब सरकार के प्रयास की प्रशंसा करते हुए कहा कि पंजाब में उन एम.एस.एम.ई को उत्साहित करने के लिए यह सही समय है, जो लाईट इंजीनियरिंग, बुने हुए कपड़े, कपड़े, खेल का सामान, फार्मेसी, ऑटोमोबाईल, हस्त यंत्र, चमड़ा उद्योग और अन्य क्षेत्रों में पांव पसार चुके हैं।
पैनल के सदस्यों ने पंजाब सरकार को उत्पादों की गुणवत्ता में और सुधार लाने और तकनीकी तौर पर समय के साथी बनने के लिए राज्य में खोज और विकास केंद्र विकसित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह सम्मेलन एम.एस.एम.ई की पहचान के लिए एक बड़ा मील पत्थर है और सरकार को एम.एस.एम.ई को उत्साहित करने के लिए ऐसी पहलकदमियां जारी रखनी चाहीए।
डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटर्नल ट्रेड (डीपीआईआईटी) के सचिव, डाॅ. गुरू प्रसाद मोहापात्रा ने कहा कि एम.एस.एम.ई. क्षेत्र पंजाब के उद्योगों की रीढ़ की हड्डी है जो राज्य में कुल उत्पादन का लगभग 60 प्रतिशत और उद्योग में कुल रोजग़ार का 80 प्रतिशत हिस्सा है।
सेशन की शुरुआत में हीरो साईकल के मैनेजिंग डायरेक्टर पंकज मुंजाल ने अपने तजुर्बे साझे किए और पंजाब सरकार द्वारा उद्योगों को दिए जा रहे सहयोग की प्रशंसा की।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement