Where is the country first 6-km long elevated railway line-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 19, 2019 11:59 am
Location
Advertisement

देश की पहली 6 किलोमीटर लंबी एलीवेटिड रेलवे लाइन कहां पर, यहां पढ़ें

khaskhabar.com : रविवार, 21 जुलाई 2019 5:04 PM (IST)
देश की पहली 6 किलोमीटर लंबी एलीवेटिड रेलवे लाइन कहां पर, यहां पढ़ें
चंडीगढ़ । हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल (Chief Minister Manohar Lal,) ने कहा कि हरियाणा देश का पहला राज्य है जहां देश की पहली 6 किलोमीटर लंबी एलीवेटिड रेलवे लाईन रोहतक में बनाई जा रही है जिसका निर्माण कार्य जनवरी, 2020 तक पूरा हो जायेगा। इसके साथ ही कुंडली-मानेसर-पलवल सडक़ मार्ग के साथ-साथ पलवल से कुडंली तक 1500 करोड़ रूपये की लागत से लगभग 135 किलोमीटर लंबी रेलवे लाईन बिछाई जायेगी।
मुख्यमंत्री अम्बाला छावनी एसडी कालेज में रेलवे विभाग द्वारा 64वें राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह एवं रेल मेला 2019 के शुभारम्भ अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि अपने सम्बोधन में बोल रहे थे। इस समारोह की अध्यक्षता केन्द्रीय रेल राज्यमंत्री सुरेश सी. अंगड़ी ने की।
इस मौके पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल व रेल राज्यमंत्री सुरेश सी. अंगडी ने रेलवे में बेहतरीन कार्य करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को स्मृति चिन्ह देकर उनको सम्मानित भी किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि व अन्य अतिथियों द्वारा कालका शिमला हैरिटेज माउंटेन रेल नामक पुस्तक का विमोचन भी किया गया। मुख्यमंत्री तथा अन्य अतिथियों ने रेलवे द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया और सराहना की।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में रेलवे इंस्फास्ट्रक्चर और नई रेल लाईन बिछाने के लिए हरियाणा सरकार और रेलवे का एक ज्वाईंट वैंचर नामत: हरियाणा रेल इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमैंट कॉरपोरेशन लिमिटिड बनाया गया है जिसमें हरियाणा की 51 प्रतिशत तथा रेलवे की 49 प्रतिशत की भागीदारी है। उन्होंने बताया कि जहां हरियाणा में एलीवेटिड रेलवे लाईन बनाई जा रही है वहीं पिछले 5 सालों में 81 किलोमीटर नई रेलवे लाईन बिछाने का काम किया गया है। लगभग 100 किलोमीटर रेलवे लाईन को डबल करने और विद्युततिकरण करने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा सोनीपत जिले के बड़ी में रेल कोच फैक्टरी का उदघाटन किया गया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में पिछली सरकार में 37 अंडर व ओवर ब्रिज बने जबकि 2014 से 2019 में अब तक 125 से ज्यादा अंडर व ओवर ब्रिज बनाये गये है। उन्होंने कहा कि अब एलीवेटिड रेलवे लाईन बारे अम्बाला, कुरूक्षेत्र, कैथल व जींद से भी डिमांड आई है। इस मौके पर रेल विभाग द्वारा पूरे देश में किये जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 165 वर्ष पूर्व पहले देश में रेल की शुरूआत अंग्रेजों ने की थी। 1863 में हरियाणा में पहली ट्रेन की शुरूआत दिल्ली से कालका तक हुई और आजादी से पूर्व अंग्रेजों द्वारा जो रेल नेटवर्क खडा किया गया था आजादी के बाद उसमें से 40 प्रतिशत पाकिस्तान में चला गया। उन्होंने कहा कि देश की एकता बनाने में यातायात का अहम महत्व होता है तथा भारतीय रेल द्वारा नये आयाम स्थापित कर यात्रियों को बेहतर सुविधा देने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जम्मु-कश्मीर में पहले एक ही मार्ग था और अब रेल नेटवर्क जम्मु-कटरा बारामुला तक रेलवे ट्रैक होने से देशवासियों का आपस में जुड़ाव हुआ है जिससे समस्या भी कम हुई है। उन्होंने कहा कि पहले भांप और कोयले के इंजन होते थे, उसके बाद डीजल तथा अब इलैक्ट्रीकल इंजन आने से रेलवे को गति मिली है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि हरियाणा से सम्बन्धित रेल विभाग के पास जो भी डिमांड की गई है उसमें रेलवे का सदा सहयोग रहा है।
केन्द्रीय रेल राज्यमंत्री सुरेश सी. अंगड़ी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सबका साथ सबका विकास एवं सबका विश्वास के साथ रेलवे को पहले स्थान पर लाने के लिए पुरजोर तरीके से कार्य किये जा रहे हैं। अभी भारतीय रेलवे विश्व में चौथे स्थान पर है लेकिन आने वाले समय में हम नम्बर एक पर आयेंगे और इस कार्य के लिए रेल विभाग के लगभग 13 लाख अधिकारी व कर्मचारी दिन-रात कार्य कर रहे हैं।
इस मौके पर हरियाणा के स्वास्थ्य, खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री अनिल विज ने अम्बाला छावनी विधानसभा क्षेत्र में रेल विभाग द्वारा लगाये गये रेल मेले की सराहना करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हर क्षेत्र में देश आगे बढ़ रहा है। रेलवे में भी नये आयाम स्थापित हुए हैं। उनका रेल से अहम लगाव है क्योंकि उनके पिता रेल विभाग में कर्मचारी थे तथा उनका जन्म भी रेलवे कालोनी में हुआ है तथा उनका बचपन रेलवे स्टेशन पर ही खेलकूद पर बड़ा हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि रेल विस्तार के लिए किये गये कार्यों के लिए रेलवे अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित किया जाना भी काफी सराहनीय है। उन्होंने कहा कि रेलवे के लिए बजट मे जो अलग प्रावधान किया गया है उससे निसंदेह रेल विस्तार में गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि अम्बाला छावनी में 1857 की क्रांति की पहली चिंगारी फूटी थी और उन शहीदों की याद में 192 करोड़ रूपये की लागत से शहीदी स्मारक का निर्माण किया जा रहा है। इस निर्माण कार्य के पूरा होने के बाद पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में लगभग 5 वर्षों अम्बाला छावनी में अभूतपूर्व विकास कार्यों को अमलीजामा पहनाने का काम किया गया है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement