Week-long Kullu Dussehra celebrations begin-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 6, 2019 2:53 pm
Location
Advertisement

सप्ताह भर चलने वाले कुल्लू दशहरा समारोह की शुरुआत

khaskhabar.com : मंगलवार, 08 अक्टूबर 2019 7:52 PM (IST)
सप्ताह भर चलने वाले कुल्लू दशहरा समारोह की शुरुआत
कुल्लू। देशभर में मंगलवार को जहां बुराई के प्रतीक रावण का दहन कर दशहरा पर्व मनाया गया, वहीं हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में सप्ताह भर चलने वाले दशहरा उत्सव की शुरुआत हुई है। धार्मिक उत्साह के बीच मंगलवार को कुल्लू दशहरा उत्सव के लिए 200 से अधिक देवी-देवताओं की प्रतिमाएं एक साथ लाई गईं। देश के बाकी हिस्सों में जहां विजयादशमी पर दशहरा उत्सव समाप्त हो जाता है, वहीं सदियों पुराना कुल्लू दशहरा समारोह विजयादशमी के दिन ही शुरू होता है।

समारोह के एक आयोजक ने आईएएनएस को बताया, "200 से अधिक देवी-देवता आ चुके हैं। यह निमंत्रण 330 देवी-देवताओं को दिया गया था।"

देश के अन्य हिस्सों के विपरीत यहां रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले नहीं जलाए जाते हैं।

यहां 14 अक्टूबर को ब्यास नदी के तट पर लंका दहन समारोह के दौरान इकट्ठे हुए देवताओं द्वारा एक खास प्रक्रिया से 'दुष्ट साम्राज्य' को नष्ट कर दिया जाएगा।

दशहरा समारोह के पहले दिन कुल्लू शहर के सुल्तानपुर स्थित मंदिर से हजारों की संख्या में भक्तों द्वारा भगवान रघुनाथ का रथ निकाला जाता है।

इकट्ठे हुए देवता मुख्य देवता के साथ होते हैं। वे सभी त्योहार के समापन तक यहां ढालपुर मैदान में रहेंगे। इस बार त्योहार का समापन 14 अक्टूबर को होगा।

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने उद्घाटन उत्सव में भाग लिया। समापन समारोह की अध्यक्षता मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर करेंगे।

यह त्योहार यहां 1637 से मनाया जा रहा है, उस समय कुल्लू में राजा जगत सिंह का शासन था।

उन्होंने कुल्लू में सभी स्थानीय देवताओं को दशहरे के दौरान भगवान रघुनाथ के सम्मान में एक अनुष्ठान करने के लिए आमंत्रित किया था।

तब से सैकड़ों गांवों के मंदिरों से देवताओं की वार्षिक सभा एक परंपरा बन गई है।

रियासतों के खत्म होने के बाद अब प्रशासन की ओर से देवताओं को आमंत्रित किया जाता है।

परंपरा के अनुसार भक्त अपने देवता की मूर्ति को एक सुंदर ढंग से सजाई गई पालकी में लेकर आते हैं।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement