UP Assembly Elections 2022: Akhilesh Yadav said - Aligarh will lock on BJP in the West -m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 17, 2022 10:49 am
Location
Advertisement

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 : अखिलेश यादव बोले- पश्चिम में भाजपा पर अलीगढ़ का ताला लगेगा

khaskhabar.com : शनिवार, 05 फ़रवरी 2022 4:04 PM (IST)
यूपी विधानसभा चुनाव 2022 : अखिलेश यादव बोले- पश्चिम में भाजपा पर अलीगढ़ का ताला लगेगा
अलीगढ़। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि पश्चिम में भाजपा पर अलीगढ़ का ताला लगेगा।

अलीगढ़ में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा यह चुनाव उत्तर प्रदेश के भविष्य का चुनाव है। देश को सही दिशा में ले जाने का चुनाव है। आने वाले समय में संविधान को बचाने का चुनाव है। यह चुनाव इसलिए भी जरूरी है कि उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र को बचाने के लिए यह चुनाव जरूरी है। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि डिफेंस कॉरिडोर में क्या बनेगा? यह किसी को पता नहीं है। झांसी में भी बनाया था लेकिन, कहां है डिफेंस कॉरिडोर। यह चुनाव यूपी के भविष्य का है। संविधान बचाने का चुनाव है। लोकतंत्र को बचाने का चुनाव है। उन्होंने कहा कि अब समय बहुत कम बचा है। बदलाव के लिए यूपी की जनता ने मन बन लिया है। अलीगढ़ के लोग ताले लगाने का काम करेंगे। पश्चिम में भाजपा पर अलीगढ़ का ताला लगेगा। यहां लोगों को कुछ नहीं मिला है। कोरोना के समय मे सपा की एम्बुलेंस काम आई थीं। सपा के लैपटाप काम आए। सभी लोग भाजपा का सफाया करेंगे।

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों सपा और राष्ट्रीय लोक दल मिलकर प्रचार कर रहे थे, पहले चरण का चुनाव का जो माहौल बना हुआ है उससे साफ पता लग रहा है कि यूपी की जनता ने भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि मैं आपके बीच आरएलडी-सपा गठबंधन के जनपद के सातों प्रत्याशियों को प्रचंड बहुमत से जिताने की अपील करने आया हूं।

भाजपा पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि कहने को तो डबल इंजन की सरकार है लेकिन इस सरकार ने प्रदेश की जनता पर जो अत्याचार किए हैं वह कोई सोच भी नहीं सकता था इस सरकार ने किसानों पर जो अत्याचार करके बर्बाद किया है इसे कौन नहीं जानता है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को अपनी मांगें मनवाने के लिए और कृषि कानून को वापस कराने के लिए एक साल तक दिल्ली की चौखट पर धरना देना पड़ा। उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब समेत अन्य प्रदेशों के किसान भी धरने में शामिल हुए। भाजपा ने किसानों का विरोध आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए पीछे कदम हटाकर तीनों किसी कानून वापस ले लिए, जब तीनों कृषि कानून बनाए जा रहे थे उस समय भारतीय जनता पार्टी ने उनको सही तरीके से क्यों नहीं समझाया।

कहा कि आज किसानों को खाद नहीं मिल रही है अगर किसान को खाद मिल गई तो खाद की बोरी में चोरी हो रही है, डीजल-पेट्रोल गैस सब पर महंगाई बढ़ी हुई है जब महंगाई ज्यादा होगी और कमाई कम होगी तो जनता किस प्रकार से रह सकेगी।

उन्होंने कहा कि भाजपा नफरत की राजनीति करती है। सपा भाईचारे के राजनीति करती है। छोटे दल साथ आए हैं। सपा की सरकार बनने पर 300 यूनिट बिजली फ्री होगी। साढ़े चार साल में बिजली के बिल आधे क्यों नहीं हुए? यूपी के मुख्यमंत्री बिजली के कारखाने के नाम तक नहीं ले पाते हैं।

उन्होंने कहा कि सपा-रालोद गठबंधन खुशहाली लेकर आ रहा है। प्रदेश के 80 फीसद लोग गठबंधन के साथ हैं। भाजपा झांसा देने में आगे है। इनका सबसे बड़ा नेता सबसे अधिक झूठ बोलते हैं।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement