Union Home Minister Amit Shah to address a public meeting in Lucknow today-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Feb 23, 2020 9:39 am
Location
Advertisement

CAA : शाह ने कहा, हमें जितनी गालियां देनी हैं दो, भारत माता के खिलाफ नारे लगाने वाले जेल जाएंगे

khaskhabar.com : मंगलवार, 21 जनवरी 2020 2:28 PM (IST)
CAA : शाह ने कहा, हमें जितनी गालियां देनी हैं दो, भारत माता के खिलाफ नारे लगाने वाले जेल जाएंगे
लखनऊ। केंद्रीय गृहमंत्री व वरिष्ठ भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता अमित शाह ने कहा है कि
CAA पर विरोधी पार्टियां दुष्प्रचार करके और भ्रम फैला रही हैं इसीलिए भाजपा जन जागरण अभियान चला रही है, जो देश को तोड़ने वालों के खिलाफ जन जागृति का अभियान है।नरेन्द्र मोदी जी CAA लेकर आए हैं। कांग्रेस, ममता बनर्जी, अखिलेश, मायावती, केजरीवाल सभी इस बिल के खिलाफ भ्रम फैला रहे हैं। इस बिल को लोकसभा में मैंने पेश किया है। मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लो। ये अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकता है, तो उसे साबित करके दिखाओ।यह बात गृहमंत्री शाह ने लखनऊ के बंगला बाजार स्थित रामकथा पार्क में रैली को संबोधित करते हुए कही।

गृहमंत्री ने कहा कि देश में CAA के खिलाफ भ्रम फैलाया जा रहा है, दंगे कराए जा रहे हैं।
CAA में कहीं पर भी किसी की नागरिकता लेने का कोई प्रावधान नहीं है, इसमें नागरिकता देने का प्रावधान है। इस बिल में किसी की नागरिकता लेने का प्रावधान नहीं है। पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में रहने वाले अल्पसंख्यकों पर वहां अत्याचार हुए, वहां उनके धार्मिक स्थल तोड़े जाते हैं। वो लोग वहां से भारत आए हैं। ऐसे शरणार्थियों को नागरिकता देने का ये बिल है।



अमित शाह ने कहा कि मैं वोट बैंक के लोभी नेताओं को कहना चाहता हूं, आप इनके कैंप में जाइए, कलतक जो सौ-सौ हेक्टेयर के मालिक थे वे आज एक छोटी सी झोपड़ी में परिवार के साथ भीख मांगकर गुजारा कर रहे हैं। कांग्रेस के पाप के कारण धर्म के आधार पर भारत के दो टुकड़े हुए। पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों की संख्या कम होती रही। आखिर कहां गए ये लोग?कुछ लोग मार दिए गए, कुछ का जबरन धर्म परिवर्तन किया गया।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement