Uninterrupted supply in UP will give new dimension to investment and employment: Pt. Shrikant Sharma-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 22, 2020 12:18 pm
Location
Advertisement

आत्मनिर्भर यूपी में निर्बाध आपूर्ति से निवेश व रोजगार को देंगे नया आयाम : पं. श्रीकान्त शर्मा

khaskhabar.com : गुरुवार, 24 सितम्बर 2020 10:14 PM (IST)
आत्मनिर्भर यूपी में निर्बाध आपूर्ति से निवेश व रोजगार को देंगे नया आयाम : पं. श्रीकान्त शर्मा
अर्नव मिश्र

गौतमबुद्ध नगर / 24/सितंबर/20
उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री पंडित श्रीकांत शर्मा के नोएडा व ग्रेटर नोएडा दौरे से अधिकारियों व कर्मचारियों में हड़कंप मचा रहा ,दिनभर ऊर्जा मंत्री नोएडा और ग्रेटर नोएडा के तमाम उप केंद्रों में न सिर्फ मौके पर पहुंचकर वहां जायजा लिया बल्कि फोन मिला कर उपभोक्ताओं से उनकी परेशानी भी जानी ।दिन भर ऊर्जा मंत्री के दौरे के चलते अधिकारी और कर्मचारी हलकान रहे कई पसीने से तरबतर नजर आए तो कई अपने ऑफिस स्टाफ को साफ तौर पर यह चेतावनी देते नजर आए अगर कोई कमी पाई गई तो इसके लिए सामूहिक जिम्मेदारी भी सफर तय करेंगे ।इसके साथ ही तमाम वरिष्ठ अधिकारियों ने अपने अधिकारियों से अपने टेबल पर आँकड़े मंगाया उन्हें पता है कि श्रीकांत शर्मा कभी भी कोई भी जानकारी ले सकते हैं ।

ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री पं श्रीकान्त शर्मा ने गुरुवार को गौतमबुद्ध नगर जिले में नोएडा व ग्रेटर नोएडा के इंडस्ट्रियल व घरेलू फ़ीडर्स वाले उपकेंद्रों का निरीक्षण किया। ऊर्जा मंत्री ने कहा की प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प की दिशा में प्रदेश में निवेश व रोजगार के माहौल को बढ़ावा देने के लिये गांव और शहर के साथ ही उद्योगों को भी निर्बाध बिजली देने पर जोर है। उन्होंने निरीक्षण के दौरान उद्योगों को ट्रिपिंग फ्री आपूर्ति की लगातार मॉनिटरिंग के निर्देश दिये।

ऊर्जा मंत्री ने दादरी स्थित कुड़ी खेड़ा विद्युत उपकेंद्र, नोएडा SEZ और नोएडा के सेक्टर 16A फ़िल्म सिटी इंडस्ट्रियल फ़ीडर्स वाले विद्युत उपकेंद्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने इंडस्ट्रियल व कॉमर्शियल उपभोक्ताओं को फोन कर बिजली आपूर्ति की जानकारी ली। अधिकारियों को इज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस के लिये निर्बाध आपूर्ति देने, नये कनेक्शन की पेंडेंसी न रखने व उपभोक्ता शिकायतों के त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए। उन्होंने उपभोक्ताओं के नाम व नम्बर अपडेट करने व उनसे संपर्क माध्यमों से समस्या समाधान तक संपर्क मेंं रहने के निर्देश भी दिए। उन्होंने उपकेंद्र से ही उपभोक्ताओं को फोन कर उनसे आपूर्ति और समस्याओं के संबंध में जानकारी भी की।

कहा कि प्रदेश में बीजेपी सरकार बनने के बाद से बिजली की कोई कमी नहीं है। पर्याप्त, निर्बाध व सस्ती बिजली आपूर्ति के लिये ट्रांसमिशन व डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क को लगातार मजबूत किया जा रहा है। उन्होंने सही बिल-समय पर बिल सुनिश्चित करने व हाई लॉस फीडर पर लाइन लॉस 15% से कम लाने के निर्देश दिये। उपभोक्ता सुविधाओं पर जोर देने और ग्राम प्रधानों से आपूर्ति की लगातार जानकारी लेने के निर्देश दिये।

निरीक्षण के बाद जानकारी देते उन्होंने बताया कि प्रदेश विद्युत उत्पादन में आत्मनिर्भर बन रहा है। वर्ष 2022 तक ऊर्जा विभाग के राज्य तापीय विद्युतगृहों का उत्पादन 7,260 MW बढ़कर 12734 मेगावॉट हो जाएगा। इसमें से 1320 मेगावॉट विद्युत उत्पादन इसी वर्ष से बढ़ जाएगा।

लगातार सर्वाधिक मांग की सफल आपूर्ति के बारे में ऊर्जा मंत्री ने बताया कि प्रदेश में 16 सितंबर को अब तक की अधिकतम मांग 23,867 MW की आपूर्ति की गई। यह साढ़े तीन साल पहले तक की गई अधिकतम आपूर्ति से करीब 7 हजार मेगावाट अधिक है। निर्बाध आपूर्ति के लिये तीन साल में प्रदेश में ट्रांसमिशन क्षमता (टीसी) 16,500 से 8000 मेगावाट बढ़कर 24,500 मेगावाट हो गई है। आयात क्षमता (टीटीसी) भी 8700 मेगावाट से बढ़कर तीन साल में 13,500 मेगावाट हो गई है। तीन साल में 92 नए ट्रांसमिशन उपकेंद्र और बेहतर वितरण व्यवस्था के लिए 33/11 KV के 587 नए उपकेंद्र बने और 1091 उपकेंद्रों की क्षमता वृद्धि की गई है।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि हमारा लक्ष्य गांवों को स्वावलंबी बनाना भी है। उन्हें 24 घंटे बिजली दिये जाने का लक्ष्य है। इसके लिए सभी फ़ीडर्स के लाइन लॉस को 15 फीसदी से कम करने का अभियान जनसहयोग से चलाया जा रहा है। भाजपा सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में 54 फीसदी बिजली ज्यादा दी है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement