To increase agricultural income, adopt farmer innovation and diversification in crops - Minister of Agriculture-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 11, 2019 2:26 am
Location
Advertisement

कृषि आय बढ़ाने के लिए किसान नवाचार और फसलों में विविधिकरण अपनाएं - कृषि मंत्री

khaskhabar.com : रविवार, 29 जुलाई 2018 11:16 PM (IST)
कृषि आय बढ़ाने के लिए किसान नवाचार और फसलों में विविधिकरण अपनाएं - कृषि मंत्री
जयपुर। कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने किसानों से आह्वान किया है कि वे अपनी कृषि आय को बढ़ाने के लिए नवाचारों को अपनाएं और फसलों का विविधीकरण करें। उन्होंने कहा कि कृषि के साथ उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्यपालन और प्रसंस्करण सम्बंधित कार्य करके किसान न केवल आपदा से सुरक्षित रह सकते हैं बल्कि अपनी आय में भी इजाफा कर सकते हैं।
सैनी रविवार को भीलवाड़ा के नगर परिषद् टाउन हॉल में अखिल राजस्थान राज्य कृषि पर्यवेक्षक संगठन की ओर से आयोजित मेवाड़-मारवाड़ कृषि विभागीय सम्मेलन को बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों का दायित्व है कि वे किसानों को नवाचारों के बारे में बताएं और फसलों के विविधीकरण के लिए प्रेरित करें। राजस्थान सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है और प्रधानमंत्री के वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी को दोगुनी करने के संकल्प को साकार करने के लिए कृतसंकल्प है।
उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में किसानों को आपदा राहत के तहत 7400 करोड़ रूपये की राहत राशि दी गई। मंडी में अपनी उपज बेचने आने वाले 1 करोड़ किसानों को किसान कलेवा योजना के तहत 5 रूपये में सस्ता और पौष्टिक खाना उपलब्ध कराया गया। कृषि कार्य करते वक्त दुर्घटना के शिकार हुए 1300 कृषक परिवारों को 143 करोड़ रूपये की सहायता उपलब्ध कराई गई।
कृषि मंत्री सैनी ने कहा कि कीटनाश्कों के अंधाधुंध उपयोग से जमीन की उवर्र्रक क्षमता कम होने के साथ खाद्यान्नों में पोषक तत्वों की कमी आई है, इसलिए किसानों को सॉयल हेल्थ कार्ड के आधार पर ही खेती करनी चाहिए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को मसाला निर्यात प्रोत्साहन नीति और कृषि प्रसंस्करण प्रोत्साहन नीति के अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए।
सैनी को कृषि पर्यवेक्षकों द्वारा 12 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा, जिस पर कृषि मंत्री ने उनकी मांगों के सकारात्मक समाधान का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि कर्मचारी सरकार और जनता के बीच सेतु का कार्य करते हैं और इनकी मांगों का प्राथमिकता से निस्तारण किया जाएगा।
कार्यक्रम में भीलवाड़ा सांसद सुभाष बहेड़िया, विधायक विट्ठल शंकर अवस्थी, जिला प्रमुख शक्ति सिंह हाड़ा, अतिरिक्त निदेशक उद्यान शरद गोधा, उपनिदेशक जीएल चावला, अखिल राजस्थान राज्य कृषि पर्यवेक्षक संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अमर सिंह सहारण सहित बड़ी संख्या में कृषि पर्यवेक्षक उपस्थित थे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement