To avoid the possible dangers of floods, make arrangements before 30th June said Keshni Anand Arora-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 8, 2020 7:58 am
Location
Advertisement

बाढ़ के संभावित खतरों से बचने के लिए 30 जून से पहले करें जरूरी प्रबंध-अरोड़ा

khaskhabar.com : सोमवार, 18 जून 2018 1:24 PM (IST)
बाढ़ के संभावित खतरों से बचने के लिए 30 जून से पहले करें जरूरी प्रबंध-अरोड़ा
यमुनानगर । हरियाणा राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव व वित्तायुक्त, केशनी आनंद अरोड़ा ने सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को मानसून मौसम के दौरान संभावित बाढ़ के खतरों से बचने के लिए 30 जून से पहले सभी आवश्यक प्रबन्ध पूरे करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त,उन्होने अधिकारियों को हिमाचल प्रदेश व उतराखंड के सिंचाई विभाग के उच्चाधिकारियों से समन्वय स्थापित करके उनसे नदियों के बढ़ते जल स्तर की जानकारी हासिल करने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि बाढ़ के दिनों के लिए सूचना तंत्र को मजबूत करें तथा आर्मी, वायुसेना व एनडीआरएफ के अधिकारियों से बराबर सम्पर्क बनाए रखे। अधिकारी लोगों को नदियों में बढ़ते हुए जल स्तर की जानकारी समय पर दें ताकि किसी भी स्थिति से उचित ढंग से निपटा जा सके। इसके अतिरिक्त केन्द्रीय जल बोर्ड और मौसम विभाग के सम्पर्क में भी रहे।

केशनी आनंद अरोड़ा ने कहा कि संभावित बाढ़ से प्रभावित लोगों को उनके वाटसअप गु्रप में हिन्दी भाषा में सूचना भेजें। उन्होंने राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे प्रतिदिन बरसात की रिपोर्ट ऑनलाईन करें। उन्होंने स्पष्ट किया कि बिजली से चलने वाले पानी निकासी के पम्प सैटो के भरोसे न रहे, बल्कि जनरेटर सैट या डीजल से चलने वाले पम्पों को पूरी तरह से तैयार रखे और सुनिश्चित करे कि पम्प सही चालू हालत में हो और उनके ऑपे्रटर भी हर समय उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि ड्रेनों की सफाई का कार्य 25 जून तक अवश्य करें। उन्होंने उपायुक्त गिरीश अरोड़ा से बाढ़ बचाओं के लिए शुरू किए गए पत्थरों के बांध बनाने के कार्य की विस्तार से जानकारी ली।

केशनी आनंद अरोड़ा ने यमुनानगर में जिला प्रशासन एवं विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ आयोजित एक बैठक में मानसून मौसम के दौरान संभावित बाढ़ के खतरों से बचने के लिए समय रहते किए जा रहे प्रबंधों व उठाए जा रहे कदमों की जानकारी ली।

राजस्व विभाग हरियाणा की अतिरिक्त मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी अधिकारी इस बार पिछली बार से ज्यादा तैयारी करें। उन्होंने कहा कि जगाधरी क्षेत्र में नालों की सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंनें आदेश दिए कि नदियों में जल स्तर के बढ़ते ही नहर को तुरन्त बंद कर दिया जाए।

उन्होंने यमुनानगर के उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि अपने अधीन व सिंचाई विभाग के नीचे तक के हर अधिकारी व कम्रचारी की डयूटी लगाए और इसी सप्ताह मॉक ड्रिल कर लें। उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे पर्याप्त मात्रा में डीजल पम्प सैटों का प्रबंध कर ले। उन्होंने डीएफएससी को निर्देश दिए कि संभावित बाढ़ के दौरान हर प्रकार की खादय सामग्री पहले से ही तैयार रखे।

इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग भी पर्याप्त दवाईयां स्टॉक में रखे। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि वे स्वयंसेवी संस्थाओं की रेस्क्यू टीम तैयार रखे। उन्होंने बैठक में गांव परवालो में बनाए जा रहे सीवरेज ट्रीटमैंट प्लांट की जानकारी भी ली।

इसके उपरांत, केशनी आनंद अरोड़ा ने आनलाइन जमाबंदी, इंतकालों को सही समय व सही ढंग से दर्ज/तस्दीक करने,गिरदावरी, निशानदेही, रिकवरी व राजस्व से संबंधित न्यायालयों में चल रहे केसों के निपटान से संबंधित मामलों, फर्द आदि से संबंधित मामलों की समीक्षा भी की।

उन्होंने राजस्व विभागके अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने कार्यालय में सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान दें व कार्य में पारदर्शिता लाए। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए कि वे समय समय पर राजस्व अधिनियमों का गहनता से अध्ययन करें। इसके साथ उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सरकारी सम्पति का ब्यौरा जिला राजस्व अधिकारी कार्यालय में तुरंत भेजे और सरकारी संपति का इन्तकाल अपने नाम दर्ज करवाए।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement