Three members of Babri gang who stole cash and jewelry in marriage ceremony arrested, one child abuser arrested-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 16, 2022 3:41 pm
Location
Advertisement

शादी समारोह में नकदी व गहने चोरी करने वाली बाबरी गैंग के तीन सदस्य गिरफ्तार, एक बाल अपचारी निरुद्ध

khaskhabar.com : शनिवार, 19 फ़रवरी 2022 1:24 PM (IST)
शादी समारोह में नकदी व गहने चोरी करने वाली बाबरी गैंग के तीन सदस्य गिरफ्तार, एक बाल अपचारी निरुद्ध
अलवर । जिला स्पेशल टीम ने साइक्लोन सेल की सूचना पर शादी समारोह में नकदी व कीमती जेवरात चुराने वाली बावरी गैंग का खुलासा कर गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। साथ ही एक बाल अपचारी को भी निरुद्ध किया गया है। प्रारंभिक पूछताछ में दो शादी समारोह से नगदी व जेवरात चोरी के अलावा कस्बा बड़ौदा के व्यापारी से हुई 1 लाख की लूट व गोविंदगढ़ में महिला से 40 हजार रुपयों के पर्स लूट की वारदात का खुलासा हुआ है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। जिनसे और की वारदात खुलने की संभावना है।

अलवर एसपी तेजस्वनी गौतम ने बताया कि जयपुर रोड स्थित कटीघाटी के पास अरावली गार्डन व चोर डूंगरी स्थित मोहित गार्डन में 10 फरवरी को शादी समारोह के दौरान हुई नकदी सहित गहने चोरी की वारदातों का खुलासा करने हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमन लाल मीना, सीओ अमित सिंह के निर्देशन एवं पर्यवेक्षण में डीएसटी एवं साईक्लोन सैल की संयुक्त टीम गठित की गई ।
गठित टीम ने आसूचना संकलित की एवं मुखबिर एक्टिव किये। प्राप्त इनपुट के आधार पर भरतपुर की बाबरी गैंग के बदमाशों को चिन्हित किया गया और उन पर निगरानी रखी गई। गुरुवार को डीएसटी टीम को सूचना मिली कि बाबरी गैंग के कुछ बदमाश अलवर शहर में और वारदातो को अन्जाम देने के लिऐ रैकी करने आये हुआ है। इस पर साईक्लोन सैल से तकनीकी सहायता लेकर डीएसटी प्रभारी जहीर अब्बास मय टीम ने नाबालिग एवं गैंग के तीन बदमाशों को वारदात से पहले ही दबोच लिया।
गिरफ्तार आरोपी तुफान बावरी पुत्र राजू (19) लाखेरी जिला बून्दी एवं मनोज बाबरी पुत्र किशन (20) व अजय बाबरी पुत्र राधेश्याम (20) रणजीत नगर थाना कोतवाली भरतपुर के रहने वाले है। जिनके पास से चार सोने की चूडी व दो सोने के कडे टुटी हुई अवस्था में, एक सोने का मंगलसूत्र एवं 40 हजार रुपये नकद बरामद किए गए है।
तरीका-ए-वारदात -
गिरफ्तार आरोपियों से अब तक की पूंछताछ में सामने आया कि ये लोग गैंग के रूप में एक साथ शादी समारोह में चोरी के लिए अपने घरों से निकलते है। दिन के समय शहर में स्थित मैरिज होम की रैकी करते है। यह अपने साथ बच्चे व महिलाओं को रखते है, जो नये कपडे पहने हुये होते है।
कीमती सामान चोरी करने बच्चों व महिलाओं को भेजते ताकि किसी को शक ना हो
गैंग में शामिल पुरूष मैरिज होम के बाहर खडे रहते है और महिलाऐं और बच्चे मैरिज होम के अन्दर प्रवेश करते है। जो शादी में शादी का मण्डप, दूल्हा-दुल्हन का कमरा और शगुन के बैग पर निगरानी रखते है। जैसे ही मौका मिलता है ये बच्चे और महिलाऐं नकदी व गहनो से भरा बैग पार कर लेते है और बाहर खडे पुरूषो के साथ निकल जाते है ।

लिखित करार कर बच्चों को किराए पर भी लेते है
इस गैंग के सदस्य बच्चो को माता पिता से किराये पर भी लेते है। जिसका बाकायदा लिखित में करार मुकर्रर होता है। बच्चे इतने निपुण होते है और इतनी सफाई से वारदात को अन्जाम देते है कि किसी को भनक तक नही लगती।
कोटा व बून्दी से जुड़े है तार
भरतपुर के बाबरी गैंग के तार कोटा और बून्दी से भी जुडे हुऐ है। जहां से भी महिला व बच्चो को वारदात के लिऐ बुलाते है। वारदात में मिले माल का आपस में बराबर हिस्सा बटाई करते है। गुरुवार को भी यह गैंग अलवर में शादी समारोह में वारदात करने और अरावली व मोहित गार्डन में से चुराऐ गहनों के टुकडे बेचने के लिए आये थे।

सावों के खत्म होने पर लूट की वारदात में लग जाते
शादी के सावे खत्म होने पर यह गैंग बैंको के आस-पास सक्रिय हो जाती है। बैंक से जैसे ही ग्राहक पैसे लेकर निकलता है तो गैंग के सदस्य पीछा कर मौका पाकर पैसो से भरा बैंग पार कर लेते है ।
उल्लेखनीय है कि पिछले साल डीएसटी टीम द्वारा इसी तरह की वारदात करने वाली एमपी की कुख्यात सांसी गैंग को 2800 किलोमीटर पीछा कर इलाहबाद से गिरफ्तार किया था ।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement