The local body minister took the problem of water logging in the state due to heavy rains.-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 18, 2019 9:23 pm
Location
Advertisement

स्थानीय निकाय मंत्री ने भारी बारिश के कारण राज्य में जल भराव की समस्या का लिया जायजा

khaskhabar.com : शुक्रवार, 19 जुलाई 2019 10:14 PM (IST)
स्थानीय निकाय मंत्री ने भारी बारिश के कारण राज्य में जल भराव की समस्या का लिया जायजा
चंडीगढ़। पंजाब के स्थानीय निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिन्द्रा ने भारी बारिश के बाद राज्य में कई स्थानों पर जल भराव की समस्या का जायज़ा लेने के लिए विभाग के सीनियर अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय मीटिंग की। मंत्री ने अधिकारियों को प्रभावित शहरों में से तुरंत पानी निकलवाने और निवासियों को पीने योग्य पानी की अपेक्षित सप्लाई बहाल करने के निर्देश दिए।

मीटिंग के बाद एक प्रैस बयान के द्वारा मोहिन्द्रा ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में हुई भारी बारिश के कारण कई स्थानों पर पानी भर गया है जिस कारण आम जन जीवन प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि राज्य के कई शहरों की भौगोलिक स्थिति नीची होने के कारण भारी बारिश पडऩे के बाद बाढ़ जैसे हालात बन जाते हैं और कुदरती ढंग से ऐसे पानी को निकालना संभव नहीं होता।

मंत्री ने बताया कि बरसाती मौसम से पहले उन्होंने स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों और शहरी स्थानीय इकाईयों को राज्य के सभी सिवरेज सिस्टम को सुपर सक्कर मशीन/जैटिंग मशीन के द्वारा साफ़ करने और मैनहोलों की सफ़ाई करने के निर्देश दिए थे। मोहिन्द्रा ने स्पष्ट किया कि उनके द्वारा शहरी स्थानीय इकाईयों के निवासियों के लिए सैंट्रल पब्लिक हैल्थ इंजीनियरिंग संस्था (सी.पी.एच.ई.ई.ओ.) के नियमों के मुताबिक पीने योग्य कलोरीनेटड पानी की सप्लाई बहाल करने के लिए हिदायत की गई थी जिससे पानी से होने वाली बीमारियों के कारण किसी किस्म की कोई स्वास्थ्य समस्या पैदा न हो।

उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा राज्य में प्रभावित हुए इलाकों की ज़मीनी स्थिति पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है और ज़रूरत के मुताबिक क्षेत्रीय अमले को नियमित रूप से दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस बारिश के दौरान बठिंडा सबसे अधिक प्रभावित हुआ है जहाँ 16 जुलाई,2019 की सुबह को 178 एम.एम बारिश होने के कारण बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए थे। भारी बारिश के कारण बरसाती पानी की निकासी के रस्ते (सुलेज कैरियर) में दरारें आ गई थीं जिस कारण पंप स्टेशन को बंद करना पड़ा और इसलिए पानी की निकासी वाले पंपों को 10 घंटे बाद ही चालू किया जा सका। इस सारी स्थिति पर स्थानीय निकाय मंत्री और विभाग के सीनियर अधिकारियों द्वारा लगातार नजऱ रखी जा रही है। भरा हुआ सारा पानी 18 जुलाई, 2019 को बाहर निकाल दिया गया था और स्थिति नियंत्रण में है।

उन्होंने आगे बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा पंजाब सरकार के तकनीकी सलाहकार, पी.डब्ल्यू.एस.एस.बी. और ड्रेनेज एंड पब्लिक हैल्थ विभाग के सीनियर अधिकारियों की उच्च स्तरीय तकनीकी टीम गठित की गई है। यह टीम जल्द ही बठिंडा शहर का दौरा करेगी और शहर में हुए नुकसान का जायज़ा लेकर रिपोर्ट पेश करेगी जिससे निश्चित समय में हुए नुकसान को ठीक किया जा सके।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement