The drama Dawn Ab Abhi exposes the woman mental torture-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jun 2, 2020 1:47 pm
Location
Advertisement

नाटक सुबह अब होती है ने महिला की मानसिक प्रताड़ना को उजागर किया

khaskhabar.com : गुरुवार, 23 जनवरी 2020 5:29 PM (IST)
नाटक सुबह अब होती है  ने महिला की मानसिक प्रताड़ना को उजागर किया
जयपुर । जवाहर कला केंद्र के रंगायन में बुधवार को रंग शिल्प द्वारा लहर समूह के सौजन्य से नाटक सुबह अब होती है का सशक्त मंचन किया गया ।
पंकज सुबीर की मूल कहानी पर नाट्य रूपांतरण नीरज गोस्वामी ने कियाl नाटक में नीरज गोस्वामी ने रघुनंदन शर्मा का पात्र बहुत ही सुलझे हुए ढंग से निभाया । नाटक में पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं की मानसिक प्रताड़ना का करीने से चित्रण किया गया । मिसेज शर्मा का किरदार जयपुर रंगमंच की वरिष्ठ अभिनेत्री भगवंत कौर ने निभाया और उस पात्र को जीवंत किया ।
नाटक में ऐसे सवाल भी उठाए गए जिस पर आमतौर पर समाज में चर्चा नहीं की जाती ।
थानेदार पांडे जी के किरदार में विनोद भट्ट ने सहज अभिनय कर पुलिस वालों को जीवंत किया । नए रंगरूट पुलिस अधिकारी में अनीस कुरैशी ने अपने अभिनय के साथ न्याय किया । मोइनुद्दीन और निखिल ने पुलिस कॉन्स्टेबल की भूमिका में अपने पात्रों के साथ न्याय किया ।
नाटक का निर्देशन युवा निर्देशक राजू कुमार ने किया । मंच सज्जा गुरविंदर सिंह पुरी और अंकित शर्मा की रही जबकि नाटक की प्रकाश व्यवस्था ने नाटक को उठाने में मदद की नाटक main कुछ दृश्य प्रकाश व्यवस्था से काफी हद तक उभरे हुए नजर आए इसकी लाइट डिजाइनिंग की राजेंद्र शर्मा राजू ने नाटक का संगीत पक्ष लाउड होने के कारण नाटक पर काफी हावी रहा कुल मिलाकर लहर के सौजन्य से रंग शिल्प की प्रस्तुति सराहनीय रही जिसे दर्शकों ने खूब सराहा ।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement