Superstition of choti Katwa reached Punjab-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jun 29, 2022 6:01 am
Location
Advertisement

चोटी कटवा का अंधविश्वास पंजाब पहुंचा

khaskhabar.com : शुक्रवार, 04 अगस्त 2017 4:42 PM (IST)
चोटी कटवा का अंधविश्वास पंजाब पहुंचा
बठिंडा। चोटी कटने का अंधविश्वास पंजाब तक पहुंच गया है। इससे पहले राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरप्रदेश में इस तरह की घटनाएं होने से लोग दहशत में है। पंजाब में इस तरह की घटनाएं सामने आ रही है। इसके बारे में कोई भी प्रत्यक्षदर्शी सामने नहीं आया है ना ही किसी ने चोटी काटने वाले को देखा है।
यह सच है या अंधविश्‍वास है, लेकिन लोग इससे बेहद परेशान हैं। बठिंडा में दो महिलाओं के सिर के बाल काटे जाने से लोग सकते में हैं। फाजिल्‍का में भी एक महिला के बाल काटने का मामला सामने अाया है।

बठिंडा की चंदसर बस्ती की पीडि़त महिला सपना ने बताया कि वह खाना तैयार कर रही थी इसी बीच वह बाथरूम में गई। बाथरूम में जाते ही उनकी आंखों के आगे अंधेरा सा छा गया और जब होश आया तो सिर के सारे बाल कटे हुए थे। शोर मचाने पर पड़ोस की महिलाओं ने उसे वहां से उठाया।

अफवाह है कि महिलाएं जब सो रही होती हैं तो उनके बाल काटे जा रहे हैं। उनमें चर्चा है कि कामकाज करते समय भी एेसा हो रहा है। उस समय उन पर बेहोशी सी छा जाती है। इसी वजह से कई क्षेत्रों में दहशत में आईं महिलाएं न तो रात को खुद सो रही हैं और न ही अपनी बच्चियों को सोने दे रही हैं।

सपना की ननद सुमन ने बताया कि ऐसा सुनने में आया है कि 1008 महिलाओं के बाल काटे जाने हैं। अब तक सवा सौ महिलाओं के बाल काटे जा चुके हैं। महिलाओं ने बाल काटे जाने की घटनाओं से सहम कर सिर पर दुपट्टे बांध लिए हैं। महिलाओं का कहना है कि सिर पर दुपट्टा पहनने से बाल कटने की घटना से बचा जा सकता है।

नरसिंह कालोनी में भी हुई चोटी काटने की घटना

डबवाली रोड पर स्थित नरसिंह कालोनी में भी ऐसा बाल काटे जाने का मामला सामने आया है। पीडि़त महिला के पति धर्मबीर ने बताया कि रात को 11 बजे वह सो गई थी और मैं जाग रहा था। कुछ देर बाद उसकी पत्नी ने कहा कि उनकी गर्दन खींची जा रही है। जब देखा तो उसकी चोटी कट कर नीचे गिरी पड़ी थी।

घरों के आगे बांधे नीम

अंधविश्वास के चलते चंदसर बस्ती के लोगों ने अपने घरों के आगे नीम के पत्ते बांध रखे हैं। लोगों का कहना है कि घर के बाहर नीम बांधने से उसने घर पर बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा।
मनोचिकित्सक के अनुसार लोगों को अंधविश्वास से बाहर निकलना चाहिए। कुछ असामाजिक तत्वों ने यह बात फैलाई है। ऐसी जो घटनाएं हो रही है उनकी जांच होनी चाहिए। आने वाले दिनों में लोग दिमागी रूप से बीमार हो सकते हैं और बेहोश हो सकते हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement