Special paint will protect from current-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jun 21, 2019 1:44 am
Location
Advertisement

अब नहीं लगेगा करंट, विशेष पेंट से होगा करंट से बचाव, कैसे, यहां पढ़ें और सुनें

khaskhabar.com : शनिवार, 22 दिसम्बर 2018 2:17 PM (IST)
अब नहीं लगेगा करंट, विशेष पेंट से होगा करंट से बचाव, कैसे, यहां पढ़ें और सुनें
भरतपुर। निजी बिजली कम्पनी बीईएसएल ने करंट से बचाव के लिए शहर में लोहे के खम्बों पर विशेष तरह का पेंट करने की पूरी तैयारी करली है। अगले साल मार्च तक एलटी लाइन के करीब 550 लोहे के खम्बों पर पेंट करने का काम पूरा हो जाएगा।
बीईएसएल के सीओओ जयंतराय चौधरी ने बताया कि बरसात के समय लोहे के खम्बों में करंट आने की शिकायतों को देखते हुए सीईएससी राजस्थान की तकनीकी टीम ने कई महीनों की कोशिश के बाद एक विशेष रसायन वाले पेंट इन्सुलेक्ट एसके-03 की खोजकर सबसे पहले बीकानेर शहर में उपयोग किया।
अब इसका उपयोग भरतपुर शहर में किया जा रहा है। इस पेंट के लगने के बाद लोहे के खम्बों में करंट आने से जानवरों की मरने की दुर्घनाओं पर रोक लग सकेगी। एक खम्बे पर पेंट करने का खर्चा करीब 1100 रुपए आ रहा है।
बीईएसएल की तरफ से जामा मस्जिद सब्जी मंडी में विशेष पेंट करने के बाद खम्बे में बिजली प्रवाहित कर करंट नहीं आने का जीवन्त प्रदर्शन किया गया। कम्पनी के कर्मचारी ने तारों से बिजली लेकर पहले खम्बे के बिना पेंट किए हिस्से पर जांचा तो बल्व जल गया, जब पेंट किए हिस्से पर जांच की गई तो बल्व नहीं जला। इसके बाद बिना पेंट व पेंट वाले हिस्से पर बिजली वाले तारों से स्पार्किंग की गई। इसमें पेंट वाला हिस्सा करंट से पूरी तरह से सुरक्षित पाया गया।

ऐसे किया जाएगा पेंट

पहले मोटर लगे ब्रुश से खम्बे को रगडकर साफ किया जाता है, इससे खम्बे पर लगी जंग अन्य गन्दगी हट जाए। खम्बे की बाहरी परत चिकनी होने के बाद सरफेस क्लीनर से एक बार फिर खम्बे को साफ किया जाता है। करीब 15 मिनट बाद थिनर की दो परत की जाती है। फिर 15 मिनट के बाद इन्सुलेक्ट एसके-03 नामक पेंट की पहली परत लगाई जाती है, करीब आधा घंटे बाद दूसरी परत करने के बाद पेंट मोटाई की जांच की जाती है जो कम से कम 100 माइक्रोन होनी चाहिए। पेंट सूखने के बाद खम्बे 5 हजार बोल्ट तक के करंट को सहने लायक हो जाते हैं।
कम्पनी के पीआरओ अशोक शर्मा एवं सुधीरप्रताप सिंह ने बताया कि शहर में करीब 5.50 लोहे के पोल हैं जिन पर यह पेंट किया जायेगा। इस काम में करीब 10 महीने लगेंगे। इस काम में आने वाली राशि का वहन बिजली कम्पनी करेगी । उपभोक्ताओं से किसी प्रकार की राशि नहीं ली जायेगी।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement