shatrughan sinha dil ki baat over pm modi mann ki baat-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 24, 2019 10:22 pm
Location
Advertisement

‘शत्रु’ ने कसा तंज, ‘मन की बात’ पर किसी और का पेटेंट, करुंगा ‘दिल की बात’

khaskhabar.com : सोमवार, 05 फ़रवरी 2018 08:22 AM (IST)
‘शत्रु’ ने कसा तंज, ‘मन की बात’ पर किसी और का पेटेंट, करुंगा ‘दिल की बात’
नरसिंहपुर/जबलपुर। भारतीय जनता पार्टी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बगैर उन पर कई हमले बोले। सिन्हा ने कहा कि चुनाव में जो वादे किए वे पूरे नहीं हुए, अब मन की बात कर रहे हैं, मैं मन की बात नहीं करुंगा क्योंकि उस पर तो किसी और का पेटेंट राइट है, इसलिए दिल की बात करुंगा। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में स्थापित हो रहे एनटीपीसी संयंत्र के कारण विस्थापित हुए किसानों और उन पर दर्ज प्रकरणों को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरने पर बैठे पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा चार दिन से बैठे हैं। उनका समर्थन करने रविवार को यहां पहुंचे भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने किसानों के साथ हो रहे अन्याय पर चिंता जताई।

शॉट गन के नाम से मशहूर सिन्हा ने अपने भाषण में अंदाज नहीं बदला। उन्होंने कहा, मन की बात कर रहे हैं, करते जा रहे हैं, उसका प्रचार हो रहा है, प्रोपोगंडा हो रहा है, कोई सुने या न सुने मगर मन की बात कर रहे हैं, मन की बात पर किसी और का पेटेंट राइट है, इसलिए दिल की बात आप से कर रहा हूं। सिन्हा ने चुनाव से पहले किए जाने वाले वादों का जिक्र करते हुए कहा, चुनाव से पहले तरह-तरह के वादे किए जाते हैं, जो चाहो वो वादा करा लो, हमारे राजनेता इस मामले में पीछे नहीं हैं। वे तो जहां नदी भी नहीं है, वहां पुल बनाने का वादा कर देते हैं, चुनाव खत्म होते ही सारे वादे भूल जाते हैं।

राष्ट्र मंच गठित किए जाने का मकसद बताते हुए सिन्हा ने कहा, यह विचार मंच है, जैसे लोहिया का विचार मंच था, जैसा जय प्रकाश नारायण का था, जैसा वी पी सिंह का था, यह कोई पार्टी नहीं है। लाइट माइंडिड प्यूपिल इससे जुडऩे आएं, सभी वर्गों के वे लोग जिन्हें अपनी बात कहने का मौका नहीं मिलता उन्हें यह मंच अवसर देगा। उन्होंने आगे कहा, हम सब जानते हैं कि व्यक्ति से बड़ी पार्टी होती है और पार्टी से बड़ा देश होता है, इसलिए देश के लिए यह मंच बनाया गया है। इस मंच को सभी दलों के साथियों का समर्थन मिला हुआ है। यह किसी दल के खिलाफ बगावत नहीं है, बल्कि देश को मजबूत करने, युवाओं को जगाने का मंच है। विचार का काम ही है, जब किसी सरकार का काम करने का तरीका सिर से ऊपर निकल जाए, तब उसे चेताने का है।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement