Senior citizens will get relief from pilgrimage from rail and airplane-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 19, 2019 9:12 am
Location
Advertisement

वरिष्ठ नागरिकों को मिलेगी रेल एवं हवाई जहाज से तीर्थ यात्रा की सौगात

khaskhabar.com : शुक्रवार, 19 जुलाई 2019 8:29 PM (IST)
वरिष्ठ नागरिकों को मिलेगी रेल एवं हवाई जहाज से तीर्थ यात्रा की सौगात
जयपुर। जिला कलक्टर जगरूप सिंह यादव ने जिले के समस्त उपखण्ड अधिकारी, विकास अधिकारी एवं तहसीलदारों को ‘वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना-2019‘ का व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए है ताकि जयपुर जिले के तहसील एवं ब्लॉक्स में गांव एवं ढांणी के पात्र वरिष्ठ नागरिक इसका अधिक से अधिक लाभ उठा सके।

यादव ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा इस अति महत्वपूर्ण योजना की प्रक्रिया आरम्भ कर दी गई है। राज्य स्तरीय समिति की बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार प्रदेश के वरिष्ठ नागरिकों को देशभर में योजना के तहत निर्धारित स्थानों की तीर्थो की यात्रा कराई जाएगी। इसके तहत प्रदेश में रेल व हवाई जहाज से 5-5 हजार पात्र वरिष्ठ नागरिकों को मुफ्त तीर्थ यात्रा करायी जाएगी।


वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के लिए देवस्थान विभाग के पोर्टल www.devasthan.rajasthan.gov.in के माध्यम से ऑनलाईन आवेदन किया जा सकता है। इस योजना के तहत राजस्थान राज्य के मूल निवासी जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक (आयु की गणना एक अप्रैल 2019 को आधार मानकर की जाएगी) हो पात्र होगें। इसके अलावा उनके आयकरदाता नहीं होने एवं पूर्व में वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना का लाभ न उठाया गया हो आदि शर्ते पात्रता के लिए रखी गयी है। पात्रता की अन्य शर्ते, यात्रा के दौरान अपेक्षाएं तथा प्रावधानों सहित विस्तृत जानकारी देवस्थान विभाग की उक्त वेबसाईट पर उपलब्ध है।

वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना-2019 में रेल द्वारा रामेश्वरम, जगन्नाथपुरी, तिरूपति, द्वारकापुरी, वैष्णोदेवी, मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह (अजमेर), सलीम चिश्ती की दरगाह (फतेहपुर-सीकरी-आगरा), हजरत निजामुद्दीन औलिया (नई दिल्ली), गोवर्धन जी परिक्रमा, मथुरा, वृन्दावन-बरसाना आदि स्थान निर्धारित किये गए हैं।

हवाई जहाज से यात्रा के लिए अमृतसर-आन्नदपुर साहिब, श्रवणबेलगोला-बैगलोर, गोवा, शिरडी-शनि-शिंगणापुर- त्रयम्बकेश्वर (नासिक) मुम्बई दर्शन, कामाख्या-गुवाहाटी (राज्य संग्रहालय, कला क्षेत्र), उज्जैन (महाकालेश्वर, काल भैरव मंदिर, हरसिद्धी, नवग्रह मंदिर)-ओंकारेश्वर, देहरादून-हरिद्वार-ऋषिकेश, गंगासागर-दक्षिणेश्वर काली-वैलूरमठ-कोलकाता, पशुपतिनाथ-काठमाण्डू (नेपाल) आदि तीर्थ चयनित किये गये हैं। रेल या हवाई यात्रा के लिए निर्धारित उक्त स्थानों में कुछ स्थानों को जोड़ा या घटाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement