Security of the country and the safety of the soldiers, Modi Government priority-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Nov 18, 2019 2:32 pm
Location
Advertisement

देश की सुरक्षा और जवानों का सम्मान मोदी सरकार को प्राथमिकता

khaskhabar.com : बुधवार, 17 अप्रैल 2019 6:21 PM (IST)
देश की सुरक्षा और जवानों का सम्मान मोदी सरकार को प्राथमिकता
कुल्लू। भारतीय जनता पार्टी के नेता व हिमाचल सरकार में वन मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने कहा कि देश की सुरक्षा और जवानों का सम्मान मोदी सरकार को प्राथमिकता रही है। देश की जनता मनमोहन राज के उन दिनों को नहीं भूली है जब सरकार द्वारा सेना को खूली छूट न दिये जाने के कारण आतंकवादी सेना के जवानों का सिर काट कर ले जाते थे। पर मोदी सरकार ने उड़ी और पुलवामा के आंतकी हमलों के बाद दुनिया को दिखा दिया है कि अमेरिका और इजराईल के बाद हिन्दुस्तान तीसरा ऐसा देश है कि जो हमला करने वाले दुश्मनों को उनके घर में सर्जीकल स्ट्राइक करके मुहतोड़ जवाब देता है।

गोविन्द ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस हमेशा सशक्त भारत के खिलाफ रही है अब सर्जीकल स्ट्राइक हुई तो पाकिस्तान के बाद सबसे ज्यादा मातम छाया था तो वह राहुल एंड कंपनी में था। इन हमलों में कितने आंतकी मरे इसकी जानकारी मांग कर कांग्रेस ने यह साबित कर दिया कि कांग्रेस का दिल केवल आंतकवादीयों के लिए ही धड़कता है। देश में अलगाव वादियों के प्रति कांग्रेस के मोह का अन्दाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में देशद्रोह की धारा 124, को हटाने और धारा 370 को बनाये रखने का वायदा करके मात्र चन्द वोटों के लिए देश की सुरक्षा को ही दांव पर लगा दिया है।

उन्होंने कहा कि एक समय था जब राजीव गांधी स्वयं कहते थे “कि केन्द्र से एक रूपया चलता है तो जनता तक मात्र 15 पैसे पहुंचते हैं“ इसका कारण केवल कांग्रेस जनित भ्रष्टाचार था जो कांग्रेस के 55 वर्षों के शासनकाल की मुख्य पहचान बन गया था। परन्तु मोदी जी के शासनकाल में ‘नये भारत’ के निर्माण की सशक्त नीव रखी गयी है। भ्रष्टाचार मुक्त व पारदर्शी सरकार जिसकी कल्पना कुछ वर्ष पहले तक नहीं की जा सकती थी। इस कल्पना को साकार करते हुए पंक्ति के सबसे अत में खड़े व्यक्ति को भी सरकारी योजनाओं को सम्मान लाभ देने के लिए मजबूत और निर्णायक कदम उठाये और आज हालत ये है कि अगर दिल्ली से सबसीडी का एक रूपया भी किसी व्यक्ति को जारी होता है तो वह बिचौलियों के हाथ में न जाकर सीधे पात्र व्यक्ति के खाते में पहुंचता है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement