Sangrur cloud shown black flags at the rally-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jun 19, 2019 1:32 pm
Location
Advertisement

बादल को संगरूर रैली में दिखाए काले झंडे

khaskhabar.com : गुरुवार, 26 जनवरी 2017 7:39 PM (IST)
बादल को संगरूर रैली में दिखाए काले झंडे
बलवंत तक्षक संगरूर । पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को संगरूर में काले झंडे दिखा कर लोगों ने अकाली.भाजपा गठबंधन सरकार के खिलाफ अपना विरोध दर्ज करवाया। काले झंडे दिखाए जाने के बावजूद बादल ने अपना भाषण जारी रखते हुए कहा कि वे पंजाब की बेहतरी के लिए अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। बाद में पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में ले लिया। बादल को काले झंडे दिखाये जाने की घटना ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि दस साल से सत्ता में चले आ रहे अकाली.भाजपा गठबंधन के प्रति लोगों में नाराजगी का भाव है। इससे पहले बादल पर उनके अपने चुनाव क्षेत्र लंबी में उन पर जूता फेंका गया था। सभा में मौजूद जूता फेंकने वाले व्यक्ति के निशाने पर बादल थे। जूता उनके हाथ को छूता हुआ उनके पास आ गिरा था। जूता फेंकने वाला व्यक्ति पंजाब में हाल ही में हुई धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी की घटनाओं की वजह से गुस्से में था। इससे पहले उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के काफिले पर भी जलालाबाद विधानसभा क्षेत्र में पथराव की घटना हो चुकी है। काफिले पर पथराव के बाद केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने कहा था कि अगर बादल साहब ने अकाली कार्यकर्ताओं को छूट दी तो आम आदमी पार्टी के लिए पंजाब में चुनाव प्रचार करना मुश्किल हो जाएगा। हालांकिए इन घटनाओं के बावजूद राजनीति के माहिर खिलाड़ी बादल ने अपना संयम बनाये रखा है। पंजाब में इन दिनों चुनाव प्रचार जोरों पर है। अकाली.भाजपा गठबंधन जहां सत्ता की हैट्रिक की कोशिशों में हैए वहीं कांग्रेस और आप की तरफ से सत्ता छीनने के प्रयास किए जा रहे हैं। मुकाबला तिकोना है और चार फरवरी को मतदान से पहले सभी पार्टियां लड़ाई को अपने पक्ष में मोड़ने में कोई कोर.कसर नहीं छोड़ रही हैं। भले ही कोई कहीं किसी पर जूता फेंके और चाहे कहीं कोई किसी के काफिले पर पथराव करे। यहां यह उल्लेखनीय है कि चुनावी मौसम में पंजाब के लोग केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अपील को भी अनसुना कर रहे हैं। पंजाब में अकाली.भाजपा गठबंधन के उम्मीदवारों के पक्ष में चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कहा था कि अगर वोट नहीं देना हो तो ना देंए लेकिन किसी पर जूता ना फेंके। विरोध जाहिर करने का यह तरीका ठीक नहीं है और लोकतंत्र में इस तरह की घटनाओं को सही नहीं ठहराया जा सकता। बावजूद इसके अब संगरूर की चुनावी सभा में लोग बादल को काले झंडे दिखाने से बाज नहीं आए।

[@ Punjab election 2017- क्या इस बार भी बागी बनेंगे कांग्रेस की हार का कारण...]

[@ अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे]

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement