Sand mafia in Punjab worth Rs 20,000 crore: Kejriwal-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 19, 2022 7:49 pm
Location
Advertisement

पंजाब में 20 हजार करोड़ रुपये के अवैध कारोबार में शामिल रेत माफिया : केजरीवाल

khaskhabar.com : मंगलवार, 07 दिसम्बर 2021 10:16 PM (IST)
पंजाब में 20 हजार करोड़ रुपये के अवैध कारोबार में शामिल रेत माफिया : केजरीवाल
अमृतसर । आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि अकेले पंजाब में रेत माफिया 20,000 करोड़ रुपये से अधिक का अवैध कारोबार करते हैं। उन्होंने सत्तारूढ़ कांग्रेस विधायकों, उनके मंत्रियों और उनके करीबी सहयोगियों, जिनमें स्वयं मुख्यमंत्री भी शामिल हैं, उनके सीधे तौर पर इस अवैध धंधे में शामिल होने के गंभीर आरोप भी लगाए।

केजरीवाल यहां श्री गुरु रामदास जी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचने पर मीडियाकर्मियों के सवालों का जवाब दे रहे थे। वह पार्टी के कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए पंजाब के एक दिवसीय दौरे पर हैं।

उन्होंने कहा कि जब रेत माफिया और कई अन्य अवैध गतिविधियों में मुख्यमंत्री सहित कांग्रेस विधायकों और मंत्रियों के शामिल होने के आरोप लगाए जा रहे हैं, तो आम जनता के हितों की रक्षा कौन करेगा?

केजरीवाल ने कहा, "पंजाब के हितों की रक्षा कौन करेगा? आम लोग न्याय के लिए किसके पास जाएंगे? क्या ऐसे माफिया और माफिया राज्य के संरक्षकों से पंजाब और पंजाब के लोगों के कल्याण की उम्मीद की जा सकती है?"

केजरीवाल ने कहा कि पहले बादल और भाजपा ने अपने शासनकाल में हर तरह के माफिया को संरक्षण देकर राज्य को लूटा था।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 में, लोगों ने कांग्रेस और कैप्टन (अमरिंदर सिंह) द्वारा किए गए वादों पर भरोसा जताया, लेकिन वे भी बादल के नक्शेकदम पर चले।

उन्होंने कहा कि एक अनुमान के मुताबिक अकेले पंजाब में बालू और बजरी खनन का 20 हजार करोड़ रुपये सालाना का अवैध कारोबार चल रहा है। इस पैसे का उपयोग लोगों के कल्याण के लिए किया जा सकता है, लेकिन यह सरकारी खजाने के बजाय नेताओं की जेब में जा रहा है।

केजरीवाल ने वादा किया कि 2022 में आप सरकार बनने के साथ ही अवैध रेत खनन समेत सभी तरह के माफिया खत्म हो जाएंगे।

उन्होंने विश्वास जताते हुए कहा कि माफिया शासन के कारण राज्य के संसाधनों से राजनीतिक नेताओं की जेब में जा रहा पैसा माताओं, बहनों, बुजुर्गों और जरूरतमंदों की जेब में जाएगा। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement