Reliance petrol pump manager son robbed Rs 5.60 lakh from collection agent -m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 19, 2022 8:36 pm
Location
Advertisement

रिलायंस पेट्रोल पंप के मैनेजर के बेटे ने लूटी थी कलेक्शन एजेंट से 5.60 लाख की रकम, आखिर क्यों, यहां पढ़ें

khaskhabar.com : सोमवार, 15 नवम्बर 2021 3:40 PM (IST)
रिलायंस पेट्रोल पंप के मैनेजर के बेटे ने लूटी थी कलेक्शन एजेंट से 5.60 लाख की रकम, आखिर क्यों, यहां पढ़ें
बांसवाड़ा । कोतवाली थाना इलाके में नूतन स्कूल के सामने 11 नवंबर को दिनदहाड़े रेडिएंट कैश मैनेजमेंट के कैश कलेक्शन एजेंट से करीब 5.60 लाख की लूट के मामले का खुलासा कर थाना पुलिस ने मुख्य आरोपी प्रथम जैन व साजिशकर्ता गोविंद सिंह को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। उदयपुर रोड स्थित रिलायंस पेट्रोल पंप के मैनेजर यशपाल जैन के बेटे प्रथम जैन उर्फ छल्लू (21) निवासी राती तलाई ने दो दोस्तों गोविंद सिंह उर्फ अरमान सिंह पुत्र नरेंद्र सिंह चौहान (27) निवासी न्यू हाउसिंग बोर्ड एवं मन शाक्य पुत्र राज कुमार शाक्य निवासी पुष्पा नगर के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था।

बांसवाड़ा एसपी राजेश कुमार मीना ने बताया कि 11 नवंबर को रेडिएंट कैश मैनेजमेंट सर्विस लिमिटेड के कैश कलेक्शन एजेंट भंवर सिंह राजपूत ने एक रिपोर्ट दी की आज दोपहर करीब 1 बजे वह रिलायंस पेट्रोल पंप उदयपुर रोड से करीब 5 लाख 55 हजार रुपए व अपने करीब साढ़े 5 हजार रुपये एक बैग में रखकर बैंक में जमा कराने निकला था। नूतन स्कूल के सामने बाइक पर आए दो व्यक्ति उसका बैग छीन कर भाग गए। रिपोर्ट पर लूट का प्रकरण दर्ज कर जांच एसआई बुद्धाराम को दी गई। घटना की जानकारी मिलने पर वे स्वयं मौके पर पहुंचे। मामले के खुलासे हेतु एएसपी कैलाश सिंह सांदू एवं सीओ गजेंद्र सिंह के निर्देशन व एसएचओ कोतवाली रतन सिंह चौहान के नेतृत्व में एसआई बुद्धाराम व अन्य की एक विशेष टीम गठित की।
घटना से 10 दिन पहले रेकी की,दोस्त की बाईक उधार मांग कर लाया
गठित टीम ने संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रखी। मुखबिर की सूचना एवं तकनीकी अनुसंधान से त्वरित कार्रवाई करते हुए संदिग्ध प्रथम जैन व गोविंद सिंह को डिटेन कर सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने लूट की घटना करना स्वीकार कर लिया। लूट की घटना प्रथम जैन और मन शाक्य ने मिलकर की थी। लूट के लिए प्रथम जैन अपने मित्र निशांत तेली निवासी सुभाष नगर से बाइक मांग कर लाया। गोविंद ने जिस रास्ते पर सीसीटीवी फुटेज नहीं है, उन रास्तों की 10 दिन पहले ही रेकी कर ली थी। घटना के दिन उसने प्रथम जैन को अपने घर ले जाकर अपनी चेक की शर्ट पहनाई ओर वारदात कहां और कैसे करनी है के बारे में बताया। उसके बाद मांगी हुई बाईक पर प्रथम व उसका दोस्त मन शाक्य निकले और घटना को अंजाम देकर भाग गये।
बेटे की आदतों को देख पिता ने किया कारोबार से दूर
प्रथम जैन ने मौज-शौक के लिए शहर मे कई लोगों से उधार कर्जा ले रखा है। यह सब जानकर यशपाल जैन ने उसे कारोबार से पृथक कर रखा है। बार बार कर्जे का तकाजा करने से परेशान होकर उसने गोविन्द सिंह से बात की। गोविन्द सिंह ने लूट की साजिश रची। साजिश कर्ता गोविन्द सिंह आदतन अपराधी है, जिसके विरुद्ध पूर्व मे मारपीट, डराने धमकाने एवं वसूली करने के 04 प्रकरण थाना कोतवाली एवं 01 प्रकरण थाना सूरजपोल उदयपुर मे है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement