Rajasthani products are international initiatives, preserving tradition and celebrating cultural concerns Kitchen 2019-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Mar 25, 2019 10:04 am
Location
Advertisement

परंपरा के सहेजने और सांस्कृतिक सरोकारों का उत्सव है रसोई 2019: एसीएस उद्योग

khaskhabar.com : गुरुवार, 14 मार्च 2019 8:05 PM (IST)
परंपरा के सहेजने और सांस्कृतिक सरोकारों का उत्सव है रसोई 2019: एसीएस उद्योग
जयपुर। कहीं कड़ाई कुलचे चल रहे हैं तो कहीं डोयटे तले जा रहे हैं, किसी कोने में चूरमा बाटी दाल तैयार हो रहा है तो कहीं पर कचोड़ी तली जा रही है। कहीं पर तंदूरी चाय की स्टॉल पर लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं तो कोटा भण्डार की स्टॉल पर मिर्च मसालों की धांस के बावजूद लोग कतार में जमे हैं। तो कोई महाबीर रबडी की बेजड़ की रोटी और आलू प्याज की सब्जी तैयार होती देख रहे हैं तो चौखी ढ़ाणी का लजीज खाने का लुत्प राजस्थान हाट में ही उठाने के लिए प्रतीक्षारत है।

कोई गोल गप्पों खाने में मगन है तो कोई कच्ची घोड़ी के ढोल ताशों के दल के साथ शिल्पी लेने में मगन हो रहा है और तो और मुरली का पान, रामचंद्र की कुल्फी, चूरण चटनी तक रसोई उत्सव में उपलब्ध है। यह नजारा किसी शादी व्याह का या किसी पार्टी फंक्षन का नहीं बल्कि यह नजारा जल महल के सामने राजस्थान हाट का है जहां गुरुवार से उद्योग विभाग द्वारा रसोई 2019: स्वाद राजस्थान का उत्सव आयोजित किया गया है।
अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल के दीप प्रज्ज्वलन और श्रीगणेश के चित्र पर माल्यार्पण के साथ ही जल महल के सामने स्थित राजस्थान हाट मिठाइयों की महक और मसालों की खुशबू से सराबोर हो गया। उद्योग विभाग द्वारा राजस्थान हाट पर गुरुवार से चार दिवसीय रसोई 2019: स्वाद राजस्थान का उत्सव आयोजित किया गया है। आयोजन में राजस्थान खाद्य व्यापार संघ के अध्यक्ष बाबू लाल गुप्ता, नेशनल ऑयल एण्ड ट्रेड फैडरेशन के अध्यक्ष मनोज मोरारका, ग्रीन टेक के अजय गुप्ता सहित विभिन्न संघों ने भी भागीदारी निभाई है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/4
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement