Players who lose in the game should be encouraged, it is a ladder to success - Union Sports Minister-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 17, 2022 10:54 am
Location
Advertisement

खेल में हारने वाले खिलाड़ियों को होंसला रखना चाहिए, यह सफलता की एक सीढ़ी है- केंद्रीय खेल मंत्री

khaskhabar.com : मंगलवार, 07 जून 2022 9:06 PM (IST)
खेल में हारने वाले खिलाड़ियों को होंसला रखना
चाहिए, यह सफलता की एक सीढ़ी है- केंद्रीय खेल मंत्री
चंडीगढ़ । केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा कि खेलों में हारने वाले खिलाड़ियों को हमेशा होंसला रखना चाहिए, क्योंकि यह अगली प्रतियोगिता की तैयारी के लिए एक सीढ़ी का काम करती है। खेलो इंडिया यूथ गेम्स प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा युवा खिलाड़ियों को एक प्लेटफॉर्म दिया गया है ताकि वे बड़ी प्रतियोगिताओं के लिए स्वयं को तैयार कर सकें।

अनुराग ठाकुर मंगलवार को पंचकूला के ताऊ देवी लाल में चल रहे चौथे खेलो इंडिया यूथ गेम्स के अंतर्गत लडक़ों व लड़कियों की वॉलीबॉल प्रतियोगिताओं के फाइनल मुकाबले के बाद पदक अलंकरित समारोह के बाद खिलाड़ियों से बातचीत कर रहे थे। उनके साथ हरियाणा के खेल एवं युवा मामले राज्य मंत्री सरदार संदीप सिंह व ओलंपियन और एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की वाइस चेयरमैन पदमश्री अंजु बॉबी जॉर्ज भी उपस्थित थीं।

वॉलीबॉल में हरियाणा के लड़क़ों व लड़कियों ने रजत पर कब्जा किया
वॉलीबॉल के मुकाबलों में हरियाणा व तमिलनाडू का दबदबा देखने को मिला। लडक़ों व लड़कियों की दोनों ही प्रतियोगिताओं के फाइनल में दोनों राज्यों की भिड़ंत हुई। वॉलीबॉल प्रतियोगिताओं में खेलो इंडिया गेम्स के दौरान जितने भी मुकाबले हुए उनमें आज हुआ लड़कियों का यह पहला ऐसा मैच था जो 5 सेट तक चला। मैच के आरंभ में तमिलनाडू की लड़कियों ने पहला सेट 25-20, हरियाणा ने दूसरा सेट 25-16, तमिलनाडू ने तीसरा 25-19, हरियाणा ने चौथा 25-14 से जीता। पांचवे सेट के लिए जब मुकाबला शुरू हुआ तो शुरुआत में हरियाणा की लड़कियों ने बढ़त बना ली थी। धीरे-धीरे तमिलनाडू की लड़कियां भी मुकाबला कर रही थी और अंत में तमिलनाडू ने 15-7 से मैच जीत लिया। वॉलीबॉल नियमों के अनुसार जब किसी टीम का मुकाबला पांचवे सेट तक पहुंचता है तो 15 के स्कोर से विजेता की घोषणा की जाती है। जबकि 4 सेटों में 25 अंकों पर विजेता घोषित किया जाता है। इस प्रकार, वॉलीबॉल में हरियाणा के लड़क़ों व लड़कियों ने रजत पदक हासिल किया।
वॉलीबॉल प्रतियोगिता का यह मैच सबसे अधिक अवधि का था, 2 घंटे 5 मिनट चला यह मैच एक रिकॉर्ड बना गया। इससे पहले, हरियाणा व तमिलनाडू के लडक़ों के बीच हुआ मैच 1 घंटा 47 मिनट चला था।
यह भी उल्लेखनीय है कि आमतौर पर हरियाणा के खिलाड़ियों को कुश्ती, कबड्डी व बॉक्सिंग जैसी प्रतियोगिताओं के लिए ही जाना जाता था, परंतु खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 में हरियाणा के खिलाड़ियों ने उलटफेर किया है। उन्होंने गतका, थांग-ता के साथ-साथ वॉलीबॉल व फुटबॉल में भी अपनी प्रतिभा दिखाई है। अंडर-18 के यह गेम आने वाले एशियाड, राष्ट्रमंडल व ओलंपिक के लिए हरियाणा के खिलाडिय़ों के लिए एक मील का पत्थर साबित होंगे।

खेलों के इतिहास में वॉलीबॉल में तमिलनाडू का उसी प्रकार नाम है, जैसा हरियाणा के खिलाड़ियों का कुश्ती, कबड्डी व बॉक्सिंग जैसी प्रतियोगिताओं में है। इन खेलों में फाइनल तक पहुंचकर सभी 36 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के खिलाड़ियों व भारतीय खेल प्राधिकरण के खेल कोचों को दिखा दिया कि हरियाणा दूसरे खेलों में भी पीछे नहीं है।

हरियाणा की ओर से लडक़ों की टीम के कप्तान योगेश कुमार, तमिलनाडू के एस श्रीनाथ तथा राजस्थान के दुष्यंत सिंह जाखड़ ने हरियाणा के खेल एवं युवा मामले राज्य मंत्री श्री संदीप सिंह व एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की वाइस चेयरमैन पदमश्री अंजु बॉबी जॉर्ज के हाथों से ट्रॉफी प्राप्त की। इससे पहले दोनों अतिथियों ने मेडल व खेलों का शुभंकर धाकड़ खिलाडिय़ों को दिए। लड़कियों की टीम की ओर से हरियाणा टीम की कप्तान कीर्ती, तमिलनाडू की प्रतिका तथा गुजरात की संध्या राठौर ने यह ट्रॉफी प्राप्त की।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement