Pakoda politics continue between BJP and Congress-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 19, 2019 9:21 pm
Location
Advertisement

SPECIAL: 'पकौड़ा पॉलिटिक्स' पर टिकी देश की राजनीति, BJP-INC में जंग जारी

khaskhabar.com : मंगलवार, 06 फ़रवरी 2018 8:03 PM (IST)
SPECIAL: 'पकौड़ा पॉलिटिक्स' पर टिकी देश की राजनीति, BJP-INC में जंग जारी
Manoj Kumar Sharma
देश की राजनीति में इस समय सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा है 'पकौड़ा'। 'पकौड़ा' इस समय देश के विकास, महंगाई, बेरोजगारी, पेट्रोल-डीजल इत्यादि सभी मुद्दों पर भारी पड़ रहा है। प्रधानमंत्री के भाषण से शुरू हुई 'पकौड़ा पॉलिटिक्स' की चिंगारी अब विकराल आग का रूप धारण कर चुकी है। इस 'पकौड़ा पॉलिटिक्स' में देश के कई महत्वपूर्ण और आवश्यक मुद्दे भी जलकर खाक हो रहे हैं।

कहां से हुई विवाद की शुरुआत?

'पकौड़ा पॉलिटिक्स' की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिए एक न्यूज चैनल के इंटरव्यू के दौरान हुई। मोदी ने एक सवाल के जवाब में कहा था "आपके न्यूज चैनल ऑफिस के बाहर यदि कोई 'पकौड़ा' बेचता है तो यह भी एक रोजगार की श्रेणी में आता है।"

पीएम ने लगाई चिंगारी और हवा देने आ गए शाह-चिदंबरम

शायद पीएम मोदी को भी इस बात का इल्म नहीं होगा कि उनके द्वारा दिया गया एक छोटा सा उदाहरण देश की राजनीति में सबसे ज्वलंत मुद्दा बन जाएगा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने 'पकौड़ा' पर बयान देकर बीजेपी को उकसा दिया।

इसके बाद तो पूरी बीजेपी ही इस मुद्दे पर सक्रिय राजनीति करने में जुट गई। हालात तो यहां तक हो गए कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी राज्यसभा में अपने पहले भाषण में 'पकौड़े' का जिक्र किए बिना खुद को रोक नहीं पाए।

विवाद पर विराम अब भी नहीं लगा है। रह-रहकर कभी कांग्रेस तो कभी बीजेपी की ओर से 'पकौड़ा विवाद' को लगातार हवा दी जा रही है। सत्ता पक्ष ने 'पकौड़े' के रूप में एक नया 'जुमला' छोड़ दिया और विपक्ष उस जुमले को हवा देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा।

विपक्ष को यह समझना होगा कि वह पकौड़े के भरोसे सत्ता में वापसी नहीं करने वाली। देश में और भी कई समस्याएं हैं जिन्हें मुद्दा बनाकर वह जनता के बीच अपनी छवि सुधार सकती है। देश महंगाई, बेरोजगारी, पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों, जातिगत राजनीति आदि समस्याओं से जूझ रहा है। अगर विपक्ष इन मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने का प्रयास करे तो इससे उनका भी भला होगा और देश का भी।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement