Opposed to homosexuality Pastor, Going to court Contradiction-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Nov 20, 2018 6:33 am
Location
Advertisement

समलैंगिकता के विरोध में उतरा पादरी, न्यायालय में जाकर जताया विरोध

khaskhabar.com : सोमवार, 10 सितम्बर 2018 6:39 PM (IST)
समलैंगिकता के विरोध में उतरा पादरी, न्यायालय में जाकर जताया विरोध
कोयंबटूर। उच्चतम न्यायालय के समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से बाहर करने के निर्णय के खिलाफ सोमवार को एक पादरी ने यहां जिला अदालत परिसर में नारेबाजी कर इसका विरोध जताया। इस पादरी ने समलैंगिकता पर ऐतिहासिक फैसले के खिलाफ नारेबाजी करते हुए दावा किया कि समलैंगिक विवाह से प्राकृतिक आपदा जरूर आएगी। मिली जानकारी के अनुुसार, पुलियाकुलम गिरिजाघर के फादर फेलिक्स जेबासिंह जिला अदालत परिसर पहुंचकर गलियारे में खड़े होकर नारेबाजी करना प्रारंभ कर दी और लोगों से समलैंगिक विवाह का समर्थन नहीं करने की अपील की।

पुलिस के घेरने के बाद भी पादरी ने चीखते हुए बताया कि धारा 377 (आईपीसी) पर सर्वोच्च कोर्ट के फैसले का समर्थन नहीं करें। ईसा मसीह शीघ्र आ रहे हैं। उनका आगमन निकट है। इस तरह की शादी से समाज पूरी तरह बर्बादी की कगार पर पहुंच जाएगा। उन्होंने कहा कि परमपिता ने सोडोम और गोमोरा के शहर आग और सल्फर से बर्बाद कर दिए थे क्योंकि वह समलैंगिकता का समर्थन करते थे। समलैंगिकता का समर्थन नहीं करें।

पुलिस के अनुसार, पादरी को पास स्थित पुलिस थाने ले जाया गया और बाद में छोड़ दिया गया। उल्लेख है कि सर्वोच्च न्यायालय ने छह सितंबर को 158 वर्ष पुराने कानून को निरस्त करते हुए समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement