Opinions differ on Punjab government ability to provide free electricity - Survey-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 8, 2022 3:34 pm
Location
Advertisement

पंजाब सरकार की मुफ्त बिजली मुहैया कराने की क्षमता पर राय जुदा-जुदा - सर्वे

khaskhabar.com : बुधवार, 29 जून 2022 6:23 PM (IST)
पंजाब सरकार की मुफ्त बिजली मुहैया कराने की क्षमता पर राय जुदा-जुदा - सर्वे
नई दिल्ली। पंजाब में भगवंत मान के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने 27 जून को अपना पहला बजट पेश किया। अपने पहले बजट में, पंजाब के वित्त मंत्री हरपाल सिंह ने घोषणा की कि 1 जुलाई से राज्य के हर घर में हर महीने 300 यूनिट मुफ्त बिजली उपलब्ध कराने के लिए बजटीय प्रावधान किए गए हैं।

आप ने इस साल के शुरू में राज्य में हुए विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान 300 यूनिट मुफ्त बिजली देने का वादा किया था। मुफ्त बिजली योजना से राज्य के खजाने पर 1800 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। विशेष रूप से, मुफ्त बिजली की इस छूट के बावजूद, भगवंत मान सरकार द्वारा अपने पहले बजट में किसी भी नए कर की घोषणा नहीं की गई है।

सीवोटर इंडिया ट्रैकर ने यह जानने के लिए आईएएनएस की ओर से एक देशव्यापी सर्वे किया कि क्या पंजाब सरकार बिजली पर यह सब्सिडी वहन कर सकती है।

सर्वे के दौरान इस मुद्दे पर लोगों की राय बंटी हुई थी। सर्वे के आंकड़ों के अनुसार, 49 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि पंजाब सरकार बिना किसी वित्तीय दबाव के 300 यूनिट मुफ्त बिजली प्रदान कर सकती है, जबकि 51 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने इस भावना को साझा नहीं किया।

सर्वे ने इस मुद्दे पर एनडीए और विपक्षी मतदाताओं के विचारों में राजनीतिक ध्रुवीकरण पर प्रकाश डाला। जहां 60 फीसदी विपक्षी मतदाताओं ने कहा कि भगवंत मान सरकार बिजली पर यह सब्सिडी वहन कर पाएगी, वहीं एनडीए के 65 फीसदी मतदाताओं ने इस मुद्दे पर पूरी तरह से अलग राय व्यक्त की।

सर्वे के दौरान, जबकि अधिकांश शहरी मतदाताओं - 60 प्रतिशत - ने जोर देकर कहा कि पंजाब सरकार बिजली पर इस सब्सिडी को वहन करने का प्रबंधन करेगी, इस मुद्दे पर ग्रामीण मतदाताओं के विचार विभाजित थे।

सर्वे के आंकड़ों के अनुसार, जहां 53 प्रतिशत ग्रामीण मतदाताओं ने कहा कि भगवंत मान सरकार 300 यूनिट मुफ्त बिजली प्रदान करने के लिए वित्त का प्रबंधन करेगी, वहीं 47 प्रतिशत ग्रामीण मतदाता इस भावना से सहमत नहीं थे।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
Advertisement
Advertisement