NBRI to help turn Lucknow into a natural oxygen hub-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 25, 2021 1:43 am
Location
Advertisement

लखनऊ को प्राकृतिक ऑक्सीजन हब में बदलने में मदद करेगा एनबीआरआई

khaskhabar.com : सोमवार, 14 जून 2021 4:27 PM (IST)
लखनऊ को प्राकृतिक ऑक्सीजन हब में बदलने में मदद करेगा एनबीआरआई
लखनऊ। लखनऊ में राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान (एनबीआरआई) के वैज्ञानिकों ने शहर को प्राकृतिक ऑक्सीजन हब में बदलने में लखनऊ नगर निगम (एलएमसी) के साथ सहयोग करने पर सहमति व्यक्त की है।


सीएसआईआर और एनबीआरआई के निदेशक एस.के. बारिक ने इस दिशा में हरसंभव मदद का वादा किया।


बारिक ने लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया को बताया है कि पीपल, बरगद और पकड़ भूकंपरोधी पेड़ है। उन्होंने कहा कि बरगद के पेड़ में एक विशिष्ट जल धारण क्षमता भी होती है और यह पर्यावरण के लिए वरदान है।


एनबीआरआई परिसर में एक बरगद के पेड़ के बारे में बात करते हुए, बारिक ने कहा, "एनबीआरआई परिसर के अंदर बरगद का पेड़ भी स्वतंत्रता संग्राम का गवाह है, क्योंकि शहीद उदा देवी ने ब्रिटिश सेना को इस पेड़ पर चढ़कर मोर्चा लिया था। इस बरगद के पेड़ को राज्य जैव विविधता बोर्ड द्वारा विरासत का दर्जा दिया गया है। यहां अंग्रेजों के साथ संघर्ष में कई लोग शहीद हुए थे।"


एनबीआरआई के प्रमुख वैज्ञानिक पंकज श्रीवास्तव ने कहा, "बरगद को दुनिया में सबसे अच्छी छाया देने वाले पेड़ों में से एक माना जाता है। बरगद के पेड़ की पत्तियां और जड़ें बहुत फायदेमंद होती हैं। घावों पर बरगद का रस लगाने से फायदा होता है। बरगद का रस को जोड़ों पर लगाने से जोड़ों के दर्द और गठिया से राहत मिलती है। बरगद के पेड़ का फल अल्सर की दवा बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है। इसके अलावा, यह अच्छी मात्रा में ऑक्सीजन भी पैदा करता है।"


एस.के. एनबीआरआई पार्क के प्रमुख तिवारी ने मेयर को पौधे तैयार करने की विधि से अवगत कराया।


मेयर ने कहा कि एलएमसी को सबसे ज्यादा ऑक्सीजन पैदा करने वाले पेड़ों के बारे में जानकर खुशी होगी जो शहर के पार्कों में लगाए जा सकते हैं।


--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement