Music Welfare Association district Kullu constituted-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jan 28, 2020 5:33 pm
Location
Advertisement

म्यूजिक वेलफेयर एसोसिएशन की जिला कुल्लू की कार्यकारिणी गठित

khaskhabar.com : शनिवार, 11 मई 2019 6:30 PM (IST)
म्यूजिक वेलफेयर एसोसिएशन की जिला कुल्लू की कार्यकारिणी गठित
कुल्लू। कुल्लू के सूत्रधार में music welfare Association Himachal Pradesh की बैठक हुई। इस बैठक की अध्यक्षता संगठन के प्रदेश अध्यक्ष रमेश ठाकुर ने की। इस बैठक में जिला कुल्लू के कई संगीत प्रेमियों ने भाग लिया। बैठक में संगठन की जिला कुल्लू की कार्यकारिणी का गठन किया गया। बैठक में सर्वसम्मति से जिला कुल्लू के प्रसिद्ध संगीतज्ञ पंडित विद्यासागर को जिला कुल्लू के प्रभारी के रूप में चुना गया। इनके अतिरिक्त जीवन लाल को जिला अध्यक्ष, किशन चंद को उपाध्यक्ष, शंभरा भारती को सचिव, खुशबू भारद्वाज को सह सचिव, अभिनंदन को कोषाध्यक्ष तथा संजय कुमार को प्रेस सचिव का पदभार दिया गया।

इसके अतिरिक्त प्रदेश कार्यकारिणी के लिए कुल्लू के बलदेव सिंह को भी सर्व सम्मति से चुना गया। block coordinator के रूप में कुल्लू शहर के लिए किशन चंद, संजय कुमार, बलदेव सिंह, भारती गौतम, गौरी, शम्भरा भारती, ऋषभ, खुशबू, मनाली ब्लॉक के लिए राजेश, टिंकू तथा बंजार ब्लॉक के लिए धनवीर, जमुना देवी, संजय कुमार, भानु आदि को नियुक्त किया गया।

संगठन के नवनियुक्त जिला प्रभारी पंडित विद्यासागर ने कहा कि जिला कुल्लू की संस्कृति विश्व प्रसिद्ध है। देश विदेश से लोग यहां की लोक संस्कृति को जानने के लिए आते हैं। प्रदेश सरकार को यहां के लोक संगीत को और अधिक प्रसारित करने के लिए हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलों में भी संगीत विषय को शुरू कर देना चाहिए ताकि यहां के विद्यार्थी भी शास्त्रीय संगीत तथा लोक संगीत की शिक्षा ग्रहण कर सकें।

उन्होंने बताया कि उनके पास पिछले कई वर्षों से संगीत के बहुत से विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर चुके हैं लेकिन यह बहुत निराशा की बात है कि शिक्षा ग्रहण करने के बाद उन्हें रोजगार के लिए दर-दर भटकना पड़ता है और जब सरकारी क्षेत्र में उन्हें संगीत विषय के माध्यम से रोजगार प्राप्त नहीं होता तो उन्हें निराश होकर अपना व्यवसायिक क्षेत्र ही बदलना पड़ता है। यदि उन्हें संगीत विषय में ही नौकरी मिल जाए तो उनके द्वारा की गई वर्षों की साधना सफल हो सकती है। लेकिन यह तभी संभव है यदि प्रदेश सरकार सभी विद्यालयों में संगीत विषय को शुरू करें।

संगठन के अध्यक्ष रमेश ठाकुर ने कहा की संगठन इस मांग को लेकर पिछले कई वर्षों से सरकार के समक्ष जा रहा है लेकिन अभी तक भी सरकार ने अपना वादा नहीं निभाया है। प्रदेश की वर्तमान सरकार ने भी इस विषय को शुरू करने की बात कही थी। यही नहीं उन्होंने अपने घोषणापत्र में भी इसे जगह दी थी। लेकिन वह केवल घोषणा मात्र ही रह गई। उन्होंने कहा कि संगठन आने वाले दिनों में प्रदेश के सभी जिलों से संगीत विषय को सभी स्कूलों में शुरू करने की मांग उठाएगा। इसके अतिरिक्त उन्होंने प्रदेश में होने वाले मेलों में भी हिमाचली कलाकारों के साथ हो रहे भेदभाव की चर्चा की।

उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों से आने वाले कलाकारों की तुलना में प्रदेश के कलाकारों को बहुत कम पारिश्रमिक दिया जाता है यह भी चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के संगीतज्ञ को न तो सरकारी क्षेत्र में रोजगार है और ना ही निजी क्षेत्र में। निजी क्षेत्र में भी बाहरी राज्यों के कलाकारों को अधिक धन दिया जाता है जिससे हिमाचल प्रदेश में संगीत से जुड़े लोग निराश हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement