Mulayam and Mayawati will be seen together today in Mainpuri election rally-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 20, 2022 4:10 pm
Location
Advertisement

24 साल बाद मुलायम-माया एक साथ, मायावती बोलीं - कठिन फैसले लेने पड़ते हैं

khaskhabar.com : शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019 7:56 PM (IST)
24 साल बाद मुलायम-माया एक साथ, मायावती बोलीं - कठिन फैसले लेने पड़ते हैं
मैनपुरी। 24 साल बाद आज मैनपुरी में मुलायम सिंह यादव और मायावती आज एक ही मंच से चुनावी सभा को संबाेधित किया। मैनपुरी से मुलायम सिंह यादव चुनाव लड रहे हैं।
बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि यहां पर उमड़ी भीड़ से साफ है कि आप लोग सपा संरक्षक मुलायम जी को भारी संख्या में जिताकर संसद भेजेंगे, मायावती ने कहा कि 2 जून, 1995 के गेस्टहाउस कांड को भुलाकर हम एक साथ आए हैं। कभी-कभी कठिन फैसले लेने पड़ते हैं, मुलायम सिंह जी ने पिछड़े लोगों को जोड़ा है, वह (मुलायम) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह फर्जी पिछड़ी जाति के नहीं हैं।

मायावती ने कहा कि मुलायम ही पिछड़े वर्गों के असली नेता हैं, वह (मुलायम) पीएम नरेंद्र मोदी की तरह फर्जी पिछड़े वर्ग के नेता नहीं है। नकली व्यक्ति पिछड़े वर्गों का भला नहीं कर सकता है, पिछड़े वर्ग के नेता मुलायम सिंह यादव को आप जिताकर संसद । इस चुनाव में असली और नकली के बीच पहचान जरूरत है, नकली लोगों से धोखा खाने से बचे।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी अपनी गलत नीतियों से सत्ता से बाहर जाने वाली है. बीजेपी की कोई नाटकबाजी और जुमलेबाजी नहीं चलेगी, इस बार चौकीदारी की नई नाटकबाजी बीजेपी को नहीं बचा पाएगी, अच्छे दिन का चुनावी वादा खोखला साबित हुआ। मायावती ने कहा क‍ि इस बार चौकीदार की नाटकबाजी, जुमलेबाजी नहीं चलेगी।






ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement