Monitoring of rural roads will be done with remote sensing technology-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Dec 3, 2020 7:15 pm
Location
Advertisement

रिमोट सेंसिंग तकनीक से होगी ग्रामीण सड़कों की मॉनिटरिंग

khaskhabar.com : गुरुवार, 05 दिसम्बर 2019 6:24 PM (IST)
रिमोट सेंसिंग तकनीक से होगी ग्रामीण सड़कों की मॉनिटरिंग
जयपुर । प्रदेश के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के जोधपुर में संचालित स्टेट रिमोट सेंसिंग एप्लीकेशन सेंटर (एस आर एस एस ए सी) द्वारा ग्रामीण सड़कों की मॉनिटरिंग की जाएगी। इस केंद्र द्वारा प्राप्त हाई रेजोल्यूशन सैटेलाइट इमेज के द्वारा प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के अंतर्गत सड़कों की मैपिंग की जा सकेगी।

इस संबध मे गुरूवार को शासन सचिवालय मे आयोजित बैठक मे विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की सचिव मुग्धा सिन्हा ने बताया की भारतीय अंतरिक्ष शोध संस्थान के राष्ट्रीय रिमोट सेंसिंग सेंटर (एनआरएससी) द्वारा पीएमजीएसवाई सड़कों का जिओ स्पेशिएल डेटाबेस तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस योजना को क्रियान्वित करने के लिए केंद्र ने राज्य रिमोट सेंसिंग एप्लीकेशन केंद्रों के साथ साझेदारी की है। राज्य में यह कार्य एस आर एस ई सी, जोधपुर द्वारा किया जाएगा।

सिन्हा ने बताया कि इसके माध्यम से पीएमजीएसवाई के अंतर्गत राज्य में लगभग 64 हज़ार किलोमीटर सड़कों की मॉनिटरिंग तथा मैपिंग की जा सकेगी साथ ही आमजन इन ग्रामीण सड़कों की स्थिति भुवन पोर्टल के माध्यम से देख सकते है। उन्होने बताया कि योजना के तहत तैयार किया गया डेटाबेस राज्य के विकास की योजना में लाभकारी होगा और इसका उपयोग ग्रामीण विकास विभाग, सार्वजनिक निर्माण विभाग सहित विभिन्न विभागों द्वारा किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि विभाग का उद्देश्य है कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के नए तकनीक एवं नवाचारों का प्रयोग करके राज्य में आधारभूत सुविधाओं को बढ़ाया जा सके।

इस अवसर पर ग्रुप डायरेक्टर, एनआरएससी टी.रविशंकर ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से देश में संचालित रिमोट सेंसिंग तकनीक को समझाया। बैठक में हेड, एल यू एंड सी, एनआरएससी मनोज राज सक्सेना तथा सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के अधिकारी मौजूद थे।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement