Lok Sabha Chunav 2019 : Meira Kumar faces uphill task in her father fiefdom sasaram Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Nov 17, 2019 11:19 am
Location
Advertisement

सासाराम : मीरा कुमार के सामने विरासत बचाने की चुनौती, इनसे है टक्कर

khaskhabar.com : सोमवार, 13 मई 2019 09:17 AM (IST)
सासाराम : मीरा कुमार के सामने विरासत बचाने की चुनौती, इनसे है टक्कर
इस संबंध में पूछे जाने पर कैमूर जिला के रामपुर के भलुआ गांव निवासी रामप्रवेश तिवारी कहते हैं, यह कृषि प्रधान क्षेत्र है। मीरा कुमार दुर्गावती जलाशय परियोजना जमीन पर लाईं, परंतु आज तक कई क्षेत्रों में इससे खेतों में पानी नहीं पहुंचाया जा सका है। हालांकि इनकी ही देन है कि इंद्रपुरी डैम का निर्माण हुआ है। दुर्गावती परियोजना की योजना अगर ठीक ढंग से पूरी हो जाए तो धान का कटोरा माने जाने वाले इस क्षेत्र में किसान फिर से संपन्न हो जाएंगे। शिक्षा के क्षेत्र में विकास नहीं होने से इस क्षेत्र के लोगों में नाखुशी है।

मझिगांव के टुना पांडेय, दरिगांव के धनंजय सिंह कहते हैं कि जिले में एक भी अंगीभूत महिला कॉलेज नहीं है। संबद्घ कॉलेजों में छात्राएं डिग्री प्राप्त कर रही हैं। सरकारी स्कूलों की हालत भी बहुत अच्छी नहीं है। मीरा कुमार को इस बार राष्ट्रीय जनता दल, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, रालोसपा सहित कई छोटे दलों का समर्थन है, जबकि भाजपा को जद (यू) का साथ है। पिछले चुनाव में रालोसपा राजग के साथ थी, लेकिन इस बार वह महागठबंधन के साथ है।

सासाराम के वरिष्ठ पत्रकार और क्षेत्र की राजनीति पर गहरी नजर रखने वाले विनोद कुमार तिवारी कहते हैं, इस चुनाव में महागठबंधन की प्रत्याशी मीरा कुमार और राजग प्रत्याशी छेदी पासवान के बीच सीधा मुकाबला है, परंतु पिछले चुनाव में चौथे स्थान पर रहे मनोज राम इस चुनाव में भी बहुजन समाज पार्टी से चुनाव मैदान में हैं, जो मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं। तिवारी कहते हैं, दलितों में रविदास मतदाता यहां सबसे अधिक करीब 19 प्रतिशत हैं।

इस वर्ग पर मीरा कुमार की अच्छी पकड़ है। परंतु मनोज इस वोटबैंक में सेंध लगाने के लिए प्रयासरत हैं। ऐसे में बसपा जो भी वोट लेगी, वह कांग्रेस के वोट को ही काटेगी। तिवारी कहते हैं, कांग्रेस को इस चुनाव में मुस्लिम, यादव के अलावा सवर्णों का भी साथ मिल रहा है। हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चेहरा युवाओं की पसंद बना हुआ है, जिस कारण मुकाबला कांटे का है।

(IANS)

2/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement