Lok Sabha Chunav 2019 : Meira Kumar faces uphill task in her father fiefdom sasaram-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 22, 2019 12:22 am
Location
Advertisement

सासाराम : मीरा कुमार के सामने विरासत बचाने की चुनौती, इनसे है टक्कर

khaskhabar.com : सोमवार, 13 मई 2019 09:17 AM (IST)
सासाराम : मीरा कुमार के सामने विरासत बचाने की चुनौती, इनसे है टक्कर
सासाराम। बिहार के सासाराम लोकसभा क्षेत्र में तपती धरती और लू के बीच शहर से लेकर गांव तक चुनावी चर्चा गर्म है। शहर में पान की दुकानों से लेकर गांव में चाय की दुकानों तक लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तक की चर्चा कर रहे हैं। स्थानीय उम्मीदवारों को लेकर भी चाय पर चर्चा जारी रहती है।

सासाराम (सुरक्षित) संसदीय सीट पर इस चुनाव में पिछले लोकसभा चुनाव की तरह मुख्य मुकाबला महागठबंधन प्रत्याशी कांग्रेस नेता और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ओर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता छेदी पासवान के बीच है। हालांकि यहां 13 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। सासाराम सीट पर अंतिम और सातवें चरण में 19 मई को मतदान होना है।

इस सीट पर जहां मीरा कुमार के सामने अपने पिता बाबू जगजीवन राम की विरासत बचाने की चुनौती है तो वहीं भाजपा प्रत्याशी छेदी पासवान के सामने इस क्षेत्र से चौथी बार जीत दर्ज करने की चुनौती है। सासाराम कांग्रेस की परंपरागत सीट रही है। जगजीवन राम और सासाराम एक-दूसरे के पर्याय रहे हैं। 1984 में जब कांग्रेस के विरोध में पूरे देश में हवा चल रही थी, तब भी यह सीट कांग्रेस के खाते में आई थी और जगजीवन राम यहां से आठवीं बार विजयी हुए थे।

इसके बाद वर्ष 1989 में हुए आम चुनाव में यह सीट जनता दल के हाथ में चली गई, परंतु 1996 में इस सीट पर भाजपा ने कब्जा जमा लिया। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा के छेदी पासवान ने कांग्रेस की मीरा कुमार को पराजित कर तीसरी बार जीत दर्ज की थी। उस चुनाव में पासवान को जहां 3,66,087 मत मिले थे, वहीं मीरा कुमार को 3,02,760 मत मिले थे। सासाराम में सवर्ण वर्ग में ब्राह्मण और राजपूत सबसे ज्यादा हैं। लेकिन मतदाताओं की सबसे बड़ी संख्या दलितों की है।

दलितों में मीरा कुमार की जाति रविदास पहले नंबर पर और दूसरे नंबर पर छेदी पासवान की जाति पासवान है। सासाराम लोकसभा क्षेत्र में छह विधानसभा सीटें मोहनिया, भभुआ, चौनपुर, चेनारी, सासाराम और करहगर आती हैं। इनमें तीन विधानसभा सीटें रोहतास जिले की, जबकि तीन कैमूर जिले की हैं। इस क्षेत्र का लोकसभा में सबसे ज्यादा प्रतिनिधित्व जगजीवन राम और उनकी पुत्री ने किया है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement