Living in warmth and darkness is the mango for this village Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 11, 2022 1:52 pm
Location
Advertisement

गर्मी और अंधेरे में रहना इस गांव के लिए है आम

khaskhabar.com : बुधवार, 12 अप्रैल 2017 6:32 PM (IST)
गर्मी और अंधेरे में रहना इस गांव के लिए है आम
भावावैली में बोर्ड द्वारा कई रिक्त पदों को वर्षों से नहीं भरा जा रहा है। क्षेत्र के लोगों ने बोर्ड के अधिकारियों से लेकर राजनीतिज्ञों तक इस मसले को उठाया। लेकिन किसी भी ओर से इस बारे कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। क्षेत्र में बिजली सेवा को दुरूस्त रखने में बोर्ड फेल होने लगा है। लोगों का कहना है कि बोर्ड द्वारा भावावैली में संजय और भावा संर्वधन परियोजना से करोडों रूपये कमाई की जा रही है। लेकिन यहां रिक्त पड़े पदों को वर्षों से नहीं भरा जा रहा है।
इनका कहना है ...
भावावैली में रिक्त पड़े पदों को भरने की मांग को लेकर बोर्ड को कई बार पत्र लिखा गया है। उन्होंने कहा कि यह मसला बोर्ड स्तर का है। ऐसे में बोर्ड ही कुछ कर सकता है। भावावैली में 24 घंटे से अधिक से बिजली से ठप रही।
जितेश नेगी, बोर्ड के सहायक अभियंता

यहां पति-पत्नी 5 दिनों के लिए बन जाते हैं एक दूसरे से अंजान, जानिए क्यों

2/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement