Jindal University started 3-year BA (Hons) course in Law-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 14, 2020 4:44 pm
Location
Advertisement

जिंदल यूनिवर्सिटी ने लॉ में 3 वर्षीय बीए (ऑनर्स) कोर्स शुरू किया

khaskhabar.com : गुरुवार, 17 अक्टूबर 2019 6:11 PM (IST)
जिंदल यूनिवर्सिटी ने लॉ में 3 वर्षीय बीए (ऑनर्स) कोर्स शुरू किया
सोनीपत। पहली बार ओ.पी.जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी (जेजीयू) ने गुरुवार को कानून अध्ययन में तीन वर्षीय बी.ए.(ऑनर्स) कार्यक्रम लॉन्च किया है। यह इंटरडिस्प्लिनरी प्रकृति का होगा और यह कानून के सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक संदर्भ पर केंद्रित होगा। यूनिवर्सिटी ने कहा कि जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल का कार्यक्रम कानून की पढ़ाई को लोकतांत्रिक बनाने के प्रयास के तहत शुरू की गई है और इसे सभी छात्रों के लिए सुलभ बनाया गया है चाहे वह अपने हाई स्कूल में किसी भी अकादमिक स्ट्रीम का भाग हों।

जेजीयू के कुलपति सी.राज कुमार ने एक बयान में कहा, "यह नया स्नातक कार्यक्रम भारतीय उच्च शिक्षा के बहुत ही जरूरी अंतर को भरेगा। इसे भारतीय हाई स्कूल एजुकेशन प्रणाली के प्रयासों के पर आधारित है, जिसमें हाल के सालो में 'कानूनी अध्ययन' को एक कोर्स के रूप में शुरू किया गया है।"

कानूनी अध्ययन में स्नातक डिग्री के बाद छात्र तीन साल के एलएलबी कार्यक्रम को चुन सकते हैं, जो उन्हें वकील बनने में सशक्त बनाएगा।

जेजीयू के कुलपति ने कहा, "जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल का हिस्सा बनने वाले बीए कानून अध्ययन के छात्रों के पास लॉ में विदेश में लघु अवधि के अध्ययन के अवसर होंगे, जो हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, फ्लेचर स्कूल-टफ्ट्स यूनिवर्सिटी में आयोजित किए जाते हैं और दुनिया भर की कई यूनिवर्सिटी के एक्सचेंज प्रोग्राम में भाग ले सकते हैं, जिसमें एरिजोना यूनिवर्सिटी भी शामिल है।"

इस कार्यक्रम को छात्रों को प्रमुख कानूनी व राजनीतिक विषयों व प्री-लीगल व पैरालीगल कार्यो एवं प्रदर्शन से जुड़े कौशल को बताने के लिए डिजाइन किया गया है। इसके साथ यह छात्रों को कानून, न्यायपालिका, अकादमिक, अनुसंधान व सामाजिक सेवा के लिए तैयार करता है।

कानूनी अध्ययन के स्नातक मल्टी-डिसप्लेनरी प्रोगाम के लॉन्च से इस पहले हॉवर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर स्टीफेन पी.मार्क्‍स ने 'चेंजिंग द वर्ल्ड थ्रू लॉ' पर एक व्याख्यान दिया।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement