Increased conflict between AIADMK and DMDK over seat sharing-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Apr 19, 2021 5:38 am
Location
Advertisement

सीट बंटवारे को लेकर एआईएडीएमके व डीएमडीके के बीच बढ़ी तनातनी

khaskhabar.com : मंगलवार, 02 मार्च 2021 6:26 PM (IST)
सीट बंटवारे को लेकर एआईएडीएमके व डीएमडीके के बीच बढ़ी तनातनी
चेन्नई। विधानसभा चुनाव से पहले तमिलनाडु में सीट बंटवारे को लेकर सत्तारूढ़ एआईएडीएमके और डीएमडीके के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है। लोकप्रिय अभिनेता विजयकांत के नेतृत्व वाली पार्टी डीएमडीके का राज्य के विभिन्न हिस्सों में एक ठोस आधार है। पिछले विधानसभा चुनाव में उसका वोट प्रतिशत लगभग 6 प्रतिशत था। हालांकि, कुछ आंतरिक दरार और विजयकांत की निष्क्रियता के बाद पार्टी की लोकप्रियता में कमी आई है।

शुरुआत में एआईएडीएमके और भाजपा ने डीएमडीके के साथ गठबंधन की मांग की थी, लेकिन बाद में राज्य के तत्कालीन राजनीतिक परिदृश्य में यह परवान न चढ़ सका।

हालांकि डीएमडीके ने 20 सीटों की मांग की थी, लेकिन दूसरी ओर एआईएडीएमके 11 सीट देना चाहती थी, जिसे डीएमडीके ने खारिज कर दी। नतीजतन, दोनों दलों के बीच बड़ी दरार पैदा हो गई।

20 सीटों के आवंटन की मांग पूरी नहीं होने पर डीएमडीके ने अब एआईएडीएमके को अकेले चुनाव लड़ने की धमकी दी है।

डीएमडीके के कोषाध्यक्ष और विजयकांत की पत्नी प्रेमलता विजयकांत ने एआईएडीएमके नेतृत्व से पीएमके के समान ही पार्टी को सीटें आवंटित करने का आह्वान किया है।

एआईएडीएमके (अन्नाद्रमुक) ने पीएमके को 23 सीटें दी थीं और सबसे पिछड़े वर्ग के लिए कोटा के तहत सरकारी क्षेत्रों में वन्नियार समुदाय के लिए नौकरियों में 10.5 प्रतिशत आरक्षण की घोषणा की थी, जिसका पहले डीएमडीके विरोध कर रहा था।

विजयकांत के बहनोई एल.जी. सुधीश ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा, "अगर हमारी मांग पूरी नहीं हुई तो हम अकेले ही चुनाव लड़ेंगे। 20 सीटें कोई बड़ी मांग नहीं है और हमने 2009 के लोकसभा चुनाव में स्वतंत्र रूप से 10.09 प्रतिशत वोट प्राप्त किया था। हम उम्मीद कर रहे हैं कि एआईएडीएमके नेतृत्व जमीनी हकीकत को समझेगा और हमें आवश्यक सीटें आवंटित करेगा, ताकि सभी के लिए जीत की स्थिति बने।"

सूत्रों के अनुसार, पार्टी 15 से 16 सीटों के लिए समझौता कर सकती है, क्योंकि नेतृत्व ने यह भांप लिया है कि 2021 की स्थिति 2009 से काफी अलग है और यह अभी उतनी शक्तिशाली नहीं है जितनी कि 2009 में थी।

साल 2006 के विधानसभा चुनावों में पार्टी ने 8.38 फीसदी वोट हासिल किए थे, जबकि 2011 में उसने 7.9 फीसदी वोट हासिल किए थे, जिसमें से 41 सीटों पर उसने जीत दर्ज की थी। लेकिन 2016 के चुनावों में डीएमडीके ने खराब प्रदर्शन किया और उसे केवल 2.6 प्रतिशत वोट मिले और यही कारण है कि एआईएडीएमके नेतृत्व डीएमडीके नेतृत्व के साथ कड़ी सौदेबाजी कर रहा है।

234 सदस्यीय तमिलनाडु विधानसभा के लिए 6 अप्रैल को एक चरण में चुनाव होगा। परिणाम 2 मई को घोषित किए जाएंगे।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement