In the Alwar case, the Congress government had to bow before the pressure of public opinion - Dr. Satish Poonia-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
May 21, 2022 2:37 pm
Location
Advertisement

अलवर मामले में जनमत के दबाव के आगे कांग्रेस सरकार को झुकना पड़ा - डॉ. सतीश पूनिया

khaskhabar.com : सोमवार, 17 जनवरी 2022 1:12 PM (IST)
अलवर मामले में जनमत के दबाव के आगे कांग्रेस सरकार को झुकना पड़ा - डॉ. सतीश पूनिया
जयपुर । अलवर नाबालिग मूक बधिर पीड़िता मामले पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने वक्तव्य जारी कर कहा कि, पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए भाजपा के जन आंदोलन को नैतिक जीत मिली है, अंतत: जनमत के दबाव के आगे सरकार को झुकना पड़ा और मामले की जांच सीबीआई को देने का निर्णय लेना पड़ा।
प्रदेश की क़ानून व्यवस्था को लेकर पार्टी का आंदोलन अनवरत रहेगाl

राजस्थान में होकर भी पीड़िता से मिलने न जाने के दोष से प्रियंका गांधी दोषमुक्त नहीं हो सकती। अपराधियों को पकड़ने के लिए राज्य सरकार को तत्परता से प्रयास जारी रखने चाहिए।

यह साबित हो गया कि, गृहमंत्री के नाते अशोक गहलोत अक्षम हैं और इतने बड़े प्रदेश के इतने बड़े मुद्दे को यहां की पुलिस और यहां की सरकार ठीक तरीके से न्याय दिलवाने में सफल नहीं हुई।

इस प्रकरण से कांग्रेस नेताओं का दोहरा चरित्र सामने आया, खासतौर पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी जो 'लडकी हूं, लड़ सकती हूं', अपने इस ढोंगी टाइटल के साथ यूपी में पाखंड करती हैं, दूसरी तरफ राजस्थान में होने के बावजूद भी पीड़िता व उनके परिवार से मिलना मुनासिब नहीं समझा।

यूपी में पाखंड कर प्रियंका गांधी ने कई बार गिरफ्तारियां दी, राजस्थान में उनकी अपनी कांग्रेस की सरकार है, क्या इसलिये उसका दोष दिखता नहीं है? इसलिये पीड़िता व उनके परिवार से मिले बिना चुपचाप चली गई।

कांग्रेस के इस दोहरे चरित्र से प्रश्न यह उठता है कि क्या कांग्रेस आलाकमान व कांग्रेस सरकार की नजर में राजस्थान की बहन-बेटियों का सम्मान नहीं है? क्या बहन-बेटियों के सम्मान के लिये कांग्रेस की अलग-अलग प्रदेशों के हिसाब से अलग सियासत है ?

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement