If water does not get out of the fields, then action will be taken against officials-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Nov 16, 2018 3:28 am
Location
Advertisement

खेतों से पानी नहीं निकला, तो अधिकारियों के खिलाफ होगी कार्रवाई

khaskhabar.com : गुरुवार, 08 नवम्बर 2018 6:21 PM (IST)
खेतों से पानी नहीं निकला, तो अधिकारियों के खिलाफ होगी कार्रवाई
हिसार । हरियाणा के वित्त एवं राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि प्रदेश सरकार खेतों में होने वाले जलभराव की समस्या के स्थाई समाधान के उपाय लागू करेगी और इसी कडी में बाढ़ नियंत्रण के उपायों के लिए हर वर्ष जून माह में आयोजित होने वाली समीक्षा बैठक इस वर्ष से दिसंबर माह में आयोजित करने के आदेश भी किए गए हैं।

यह बात वित्तमंत्री ने हिसार के गांव गढ़ी में आयोजित अभिनंदन समारोह में ग्रामीण जनसभा को संबोधित करते हुए कही। वित्तमंत्री ने कहा कि पिछले दिनों हुई बेमौसमी बारिश से जलभराव के कारण प्रदेश के कई हिस्सों में फसलों को काफी नुकसान हुआ। भविष्य में ऐसी स्थिति के चलते नुकसान न हो, इसके लिए प्रदेश सरकार जल निकासी का स्थाई समाधान करने की नीति बनाएगी। बाढ़ नियंत्रण के लिए आयोजित होने वाली बैठक को छह महीने पहले आयोजित करके सभी प्रबंध समय पूर्व सुनिश्चित किए जाएंगे। ड्रेन, छोटे पुलों व साइफनों में आने वाली रुकावटों को समय रहते साफ करवाया जाएगा ताकि अधिक बरसात की स्थिति में पानी की सहज व तुरंत निकासी करवाई जा सके।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में अभी तक जिन खेतों से पानी नहीं निकला है, वहां से अगले 72 घंटे में पानी निकलवाया जाएगा। इसके लिए उन्होंने मौके पर ही सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता व अन्य अधिकारियों को निर्देश देते हुए पानी न निकलने तक गांव न छोडने को कहा। उन्होंने कहा कि यदि 72 घंटे के अंदर खेतों से पानी नहीं निकला तो अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जल निकासी के लिए खेतों में नए पंप भी भेजे जा रहे हैं।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement