Heavy downpour in Agra, Chambal about to touch danger mark-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Sep 23, 2019 1:39 pm
Location
Advertisement

Heavy Rains In Agra : आगरा में मूसलाधार बारिश, यमुना नदी का जलस्तर बढ़ा

khaskhabar.com : रविवार, 18 अगस्त 2019 1:39 PM (IST)
Heavy Rains In Agra : आगरा में मूसलाधार बारिश, यमुना नदी का जलस्तर बढ़ा
आगरा। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आगरा (Agar) में रविवार तड़के भारी बारिश (Heavy Rains in Agra) हुई, जिससे शहर के निचले इलाकों में पानी भर गया है। वेदरमेन ने आगामी दो दिनों तक इन क्षेत्रों में लगातार बारिश की संभावना व्यक्त की है। आमतौर पर सूखी रहने वाली यमुना नदी का जलस्तर बढ़ गया है। दरअसल ऊपरी बैराज द्वारा नदी में भारी मात्रा में पानी को छोड़ा गया है। हथिनी कुंड बैराज (Hathini Kund barrage) से शुक्रवार को एक लाख से अधिक क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। वहीं ओखला और गोकुल बैराज से बीते दो दिनों में पानी की भारी मात्रा छोड़ी गई थी, जिससे आगरा में जल स्तर बढ़कर 486 फीट हो गया है।

आगरा के दक्षिण में स्थित चंबल नदी में भी कोटा के बैराज से नियमित पानी छोड़ने के कारण बाढ़ आ गई है। मध्य प्रदेश और राजस्थान में भारी बारिश के बाद शनिवार को कोटा बैराज द्वारा 1.62 लाख से अधिक क्यूसेक पानी छोड़ा गया था।

आगरा प्रशासन ने नदी के किनारे बसे आधा दर्जन से अधिक गांवों में पानी घुसने से वहां हाई अलर्ट जारी कर दिया है। अधिकारियों को आशंका है कि रविवार देर शाम तक खतरे का निशान पार हो सकता है।

बाढ़ से ग्रसित गांवों में लोगों को राहत देने के लिए स्टीमर सेवा शुरू की गई है। सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) महेश गुप्ता ने कहा कि बाढ़ की स्थिति पर नजर रखने के लिए आठ चेक पोस्ट बनाए गए हैं।

हालांकि, वन विभाग और वाइल्डलाइफ डिपार्टमेंट ने चंबल में मगरमच्छों और घड़ियालों के साथ कछुओं को बचाने के लिए अपनी कमर कस ली है। वहीं पिनाहट इलाके में एक मगरमच्छ शुक्रवार को एक घर में घुस गया था। वाइल्डलाइफ एसओएस टीम ने मुग्गर मगरमच्छ को वहां से निकाल कर नदी में छोड़ा।

(आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement