Haryana decision to constitute Yoga Commission-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jul 25, 2021 6:33 pm
Location
Advertisement

हरियाणा में योग आयोग का गठन करने का निर्णय

khaskhabar.com : रविवार, 24 जून 2018 4:48 PM (IST)
हरियाणा में योग आयोग का गठन करने का निर्णय
फतेहाबाद । प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा योग आयोग के गठन करने का निर्णय लिया है। हरियाणा देश छतीसगढ़ के बाद दूसरा राज्य है, जहां योग को गति और आगे बढ़ाने के लिए योग आयोग का गठन किया गया है। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि संडे को फन-डे के रूप में मनाएं। इसके अलावा, सरकार द्वारा रविवार के दिन राहगीरी का आयोजित कार्यक्रम के तहत महीने में दो दिन विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। नागरिक और युवा अपनी प्रतिभा को इसमें प्रदर्शित कर मनोरंजन भी कर सकता है। यह कार्यक्रम व्यक्ति को तरो-ताजा बनाने और उसे उत्साह से काम करने के लिए प्रेरित करने वाला है।
मुख्यमंत्री रविवार को फतेहाबाद में आयोजित राहगीरी कार्यक्रम में नागरिकों को संबोधित कर रहे थे। वे इस कार्यक्रम भाग लेने के लिए साईकिल चलाकर आए। उन्होंने कहा कि सरकारों का काम विकास कार्य करवाने के साथ-साथ सामाजिक दायित्व निभाने का भी होता है। व्यक्तिगत रूप से खुशी देना और समाज को एक नई दिशा देना भी सरकार का कत्र्तव्य बनता है। इसके लिए प्रदेश सरकार ने राहगीरी जैसे कार्यक्रम आयोजित किए है, जो लोगों को तनाव से मुक्ति दिलाने की दिशा में अपनी एक महती भूमिका निभा रहे हैं।
सरकार रेल, सडक़, पुल, कॉलेज और स्कूल इत्यादि विकास कार्य तो करवा ही रही है, विकास की कोई सीमा नहीं होती। विकास तो आधारभूत ढांचे से आगे भी है। सामाजिक जीवन दायित्व और व्यक्ति के जीवन में बदलावा लाने, उन्हें खुशी देना भी विकास की श्रेणी में है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति की आयु बढ़ती जा रही है, उसके साथ परेशानियां भी बढ़ रही है। हमने शरीर का ध्यान रखना कम कर दिया है, इसी कारण मोटापा, ह्रदय रोग, शुगर आदि की बीमारियां बढ़ रही है। भारत में 16 करोड़ लोग मोटापा से ग्रस्त है। समाज में शराब, धुम्रपान जैसे विकार भी आए है।
लोगों के स्वास्थ्य को सुधारने के लिए केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना लागू की है, जिसके तहत 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा किया गया है। गरीब व्यक्ति अगर बीमार हो जाए तो वह 5 लाख रुपये तक का ईलाज करवा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम बीमार हो ही क्यों, इस पर ध्यान देने की जरूरत है। इसके लिए भी सरकार ने लोगों को तनाव से मुक्ति दिलाने की योजना पर काम किया है। योग को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भुटान देश में लोगों को खुश रखने के लिए हैप्पीनेस मंत्रालय का गठन किया गया है। यह मंत्रालय लोगों के तनाव का कारण जानता है और उसका निदान किस प्रकार हो, उस पर योजना को क्रियांवित करता है। हैप्पीनेस इंडेक्स में भारत का 156 में से 133वां स्थान है और इसका मुख्य कारण आधुनिक युग में प्रतिस्पर्धा और भागमभाग है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें इस इंडेक्स में पहले 10 स्थान पर आना है, इसके लिए जरूरी है कि हम अपने तनाव को दूर कर हंसी-खुशी जीवन जिए। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे नकारात्मकता को त्याग कर सकारात्मकता की ओर आगे बढ़े। किसी की आलोचना न करे और अपने अंदर झांके तथा अपनी ताकत को पहचान कर लक्ष्य प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को चिंता नहीं, चिंतन करना चाहिए और जीवन में खुशी रखनी चाहिए।
इस अवसर पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं टोहाना के विधायक सुभाष बराला व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण बेदी भी मौजूद रहे। राहगीरी कार्यक्रम में विभिन्न प्रकार की खेल गतिविधियों के साथ-साथ हरियाणवी, पंजाबी, राजस्थानी सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। विभिन्न विभागों ने अपनी-अपनी उपलब्धियों की प्रदर्शनियां भी लगाई। कार्यक्रम में हजारों की संख्या में युवा और आम नागरिक शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने विभिन्न प्रकार की खेल गतिविधियों में हिस्सेदारी करते हुए खिलाडिय़ों का मनोबल बढ़ाया। उन्होंने विभाग की प्रदर्शनियों का अवलोकन किया और जानकारी हासिल की।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement