Hamirpur itself is the BJP fire test of dynastic politics Slide 2-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 11, 2022 2:42 pm
Location
Advertisement

हमीरपुर में ही भाजपा की वंशवादी राजनीति की अग्नि परीक्षा

khaskhabar.com : सोमवार, 08 अप्रैल 2019 3:40 PM (IST)
हमीरपुर में ही भाजपा की वंशवादी राजनीति की अग्नि परीक्षा
ठाकुर ने कहा, "मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने (वीरभद्र सिंह) हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (एचपीसीए) को काफी नुकसान पहुंचाया था। उन्होंने तो एक समानांतर क्रिकेट संघ बना लिया था, जो कि विफल रहा। एचपीसीए द्वारा किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया गया। इसके खिलाफ मामले केवल राजनीतिक प्रकृति के हैं और हम विभिन्न अदालतों से आरोपमुक्त होकर आ चुके हैं।"

अनुराग ने कहा, "पिछली कांग्रेस सरकार एक खेल विधेयक भी लाई थी, जिससे उसका मकसद खेल संघों पर नियंत्रण बढ़ाना था।"

पार्टी के भीतर अक्सर वंशवाद की राजनीति का लाभ लेने के आरोपों का सामना करने वाले ठाकुर ने कहा, "यह किसी के हाथ में नहीं है कि वह फैसला करे कि उसे किसके घर में जन्म लेना है। मेरे पिता (प्रेम कुमार धूमल) ने हिमाचल प्रदेश के लोगों के कल्याण के लिए अपना जीवन समíपत कर दिया और इसके लिए मुझे गर्व है।"

उन्होंने कहा, "कांग्रेस की बदले की राजनीति ने मुझे राजनीति में आने के लिए मजबूर किया।"

राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि नैना देवी निर्वाचन क्षेत्र से विधायक कांग्रेस के 67 वर्षीय रामलाल ठाकुर, अनुराग ठाकुर के खिलाफ एक मजबूत राजनेता साबित हो सकते हैं।

इससे पहले कांग्रेस तीन बार के भाजपा सांसद सुरेश चंदेल को उतारने पर विचार कर रही थी, लेकिन 2005 में जब वह हमीरपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे थे तब वह एक स्टिंग ऑपरेशन में पकड़े गए थे।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने आईएएनएस को बताया कि लेकिन चंदेल को कांग्रेस में प्रवेश देने से पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने इनकार कर दिया, ताकि यह संकेत न जाए कि पार्टी भाजपा के बागियों पर दांव खेल रही है।

--आईएएनएस

2/2
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement
Advertisement