Government asks for application for scholarship to students in Haryana-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Oct 15, 2019 11:03 pm
Location
Advertisement

हरियाणा में विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति देने के लिए सरकार ने मांगे आवेदन

khaskhabar.com : बुधवार, 11 सितम्बर 2019 7:04 PM (IST)
हरियाणा में विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति देने के लिए सरकार ने मांगे आवेदन
चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने डॉ.अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के अंतर्गत वर्ष 2019-20 के लिए अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग, विमुक्त जाति, घुमंतु एवं टपरीवास जाति के विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिए 4 नवम्बर, 2019 तक ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए हैं।
अनुसूचित जातियां एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के के एक प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ रही प्रतिस्पर्धा के युग में अनुसूचित जाति, विमुक्त जाति, घुमंतु एवं टपरीवास जाति तथा पिछड़ा वर्ग के छात्रों में प्रतिस्पर्धा की भावना को प्रोत्साहित करने लिए डॉ.अम्बेडकर मेधावी छात्र संशोधित योजना शुरू की गई है।

उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत उन विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति देकर सम्मानित किया जाएगा, जिन्होंने दसवीं, बारहवीं व स्नातक की परीक्षा में उत्कृष्ट उपलब्धि प्राप्त की है ताकि उनका मनोबल और बढ़े और वे शिक्षा के क्षेत्र में नई ऊंचाइयों को प्राप्त कर सकें। उन्होंने बताया कि डॉ.अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के अंतर्गत उक्त जातियों के दसवीं कक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थियों के लिए शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत अंक तथा ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। कक्षा 11वीं तथा सभी डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्सों के प्रथम वर्ष में पढऩे वाले विद्यार्थियों को 8,000 रुपए की वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

इसी प्रकार, कक्षा 12वीं में उत्तीर्ण विद्यार्थियों के लिए शहरी क्षेत्र में 75 प्रतिशत अंक और ग्रामीण में 70 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। कक्षा स्नातक के प्रथम वर्ष आर्टस में पढऩे वाले को 8,000 रुपए वार्षिक, कामर्स/साईंस तथा सभी डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्स करने वाले विद्यार्थियों को 8,000 रुपए वार्षिक छात्रवृत्ति, इंजीनियरिंग तथा अन्य तकनीकी/ व्यावसायिक कोर्सों के विद्यार्थियों को 9,000 रुपए वार्षिक व मेडिकल तथा अलाईड कोर्सों के विद्यार्थियों को 10,000 रुपए की राशि वार्षिक छात्रवृत्ति के रूप में प्रदान की जाएगी।

उन्होंने बताया कि इसी प्रकार स्नातक की परीक्षा में शहरी क्षेत्र में 65 प्रतिशत व ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। स्नातकोत्तर कक्षा में पढऩे वाले प्रथम वर्ष आर्ट, कामर्स व साईंस के विद्यार्थियों को 9,000 रुपए वार्षिक छात्रवृत्ति, इंजीनियरिंग तथा अन्य तकनीकी व्यावसायिक कोर्सों के विद्यार्थियों को 11,000 रुपए व मेडिकल व अलाइड कोर्सों के विद्यार्थियों को 12,000 रुपए की राशि वार्षिक छात्रवृत्ति के रूप में प्रदान की जाएगी।

उन्होंने बताया कि डा. अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के अंतर्गत पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को भी लाभ देने के लिए शामिल किया गया है। पिछड़ा वर्ग ब्लाक ए के दसवीं कक्षा में उतीर्ण विद्यार्थियों के लिए शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत अंक तथा ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। कक्षा 11वीं तथा सभी डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्सों के प्रथम वर्ष में पढऩे वाले विद्यार्थियों को 8,000 रुपए की वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि पिछड़ा वर्ग ब्लाक बी के दसवीं कक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थियों के लिए शहरी क्षेत्र में 80 प्रतिशत अंक तथा ग्रामीण क्षेत्र में 75 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। कक्षा 11वीं तथा सभी डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्सों के प्रथम वर्ष में पढऩे वाले विद्यार्थियों को 8,000 रुपए की वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत छात्रवृत्ति का लाभ उन विद्यार्थियों को प्रदान किया जाएगा, जो हरियाणा का मूल निवासी तथा अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग से सम्बंधित हो। इनकी पारिवारिक वार्षिक आय चार लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। अनुसूचित जाति तथा पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को यह छात्रवृत्ति उक्त वर्णित कक्षाओं में सभी स्ट्रीमज की आधार परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर दी जाएगी। यह छात्रवृत्ति सभी सरकारी, गैर सरकारी मान्यता प्राप्त स्कूलों, कालेजों, संस्थाओं तथा विश्वविद्यालयों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को प्रदान की जाएगी।


उन्होंने बताया कि यह योजना मैरिट पर आधारित है। इसलिए जो विद्यार्थी इन वर्गों के छात्रों के लिए चलाई जा रही सामान्य योजनाओं के अंतर्गत छात्रवृत्ति प्राप्त कर रहे हैं, वे विद्यार्थी इस स्कीम के अंतर्गत भी छात्रवृति पाने के पात्र होंगे। परंतु मैरिट आधारित किसी अन्य स्कीम के अंतर्गत पात्र नहीं होंगे, जो विद्यार्थी मान्यता प्राप्त बोर्ड/ विश्वविद्यालय से परीक्षा उत्तीर्ण करेगा, छात्रवृत्ति लेने का हकदार होगा। उन्होंने बताया कि निर्धारित तिथि के बाद प्राप्त आवेदन पत्र पर विचार नहीं किया जाएगा। आवेदन पत्र आनलाईन ही लिए जाएंगे। पात्र विद्यार्थी विभाग की वेबसाइट www.scbcharyana.gov.in पर 4 नवम्बर तक आनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar Haryana Facebook Page:
Advertisement
Advertisement