Gayatri Prajapati case: Rape survivor slams mom for taking money-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Aug 12, 2020 5:43 am
Location
Advertisement

गायत्री प्रजापति मामला : दुष्कर्म पीडि़ता का मां पर रुपये लेकर बयान बदलने का आरोप

khaskhabar.com : गुरुवार, 29 अगस्त 2019 11:53 AM (IST)
गायत्री प्रजापति मामला : दुष्कर्म पीडि़ता का मां पर रुपये लेकर बयान बदलने का आरोप
चित्रकूट (उत्तर प्रदेश)। उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति (Gayatri Prajapati) से संबंधित दुष्कर्म (Rape) के मामले में दुष्कर्म पीडि़ता ने अपनी मां पर गायत्री प्रजापति से करोड़ों रुपये लेकर उनके खिलाफ लगाए गए आपराधिक मामले वापस लेने का आरोप लगाया है।

लडक़ी और उसकी मां का पूर्व मंत्री तथा उनके साथियों द्वारा कथित रूप से दुष्कर्म किया गया था। आरोपी को मार्च 2017 में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गिरफ्तार किया गया था।

लडक़ी ने बुधवार रात सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड कर बयान दिया। वीडियो में उसे रोते हुए और डरा हुआ देखा जा रहा था और वह बोल रही थी कि वह सिर्फ पीडि़ता नहीं है, बल्कि एक गवाह भी है और उसकी जान को खतरा है।

उसने कहा, ‘‘आरोपी पूर्व मंत्री बीमारी का बहाना बनाकर अस्पताल में भर्ती हैं, जहां से वह आसानी से अपने लोगों से मिल सकते हैं।’’

लडक़ी ने आगे कहा कि काले शीशे वाली एक कार में कुछ लोग उसका पीछा कर रहे हैं।

गौरतलब है कि लडक़ी की मां- जिसने पहले पूर्व मंत्री पर दुृष्कर्म का मामला दर्ज किया था- ने जुलाई में प्रयागराज में विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट में आवेदन पत्र दर्ज कर अपना बयान वापस ले लिया था।

लडक़ी की मां ने कोर्ट में अपना बयान बदलते हुए कहा कि पूर्व मंत्री ने उसका दुष्कर्म नहीं किया था, लेकिन उनके दो साथियों ने किया था।

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में रहने वाली पीडि़ता की मां ने इससे पहले 2014 में दावा किया था कि प्रजापति ने नौकरी और एक घर देने के बहाने उसे लखनऊ बुलाया था और वहां अपने साथियों के साथ उसका दुष्कर्म किया था।

उसने कहा था कि आरोपी ने उसकी नाबालिग बेटी का भी दुष्कर्म किया है और इसका एक वीडियो बनाया था, और उसे ब्लैकमेल करता रहता था।

उसने तब आरोप लगाया था कि उसकी शिकायत दर्ज नहीं की गई और अंत में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर प्रजापति और उनके साथियों को गिरफ्तार किया गया था।

आरोपी गायत्री प्रजापति अखिलेश सरकार की अगुआई वाली समाजवादी पार्टी की सरकार में 2012 से 2017 तक मंत्री थे।
(आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
Advertisement