Four-day virtual automobile art festival Cartist Festival 2020 concludes-m.khaskhabar.com
×
khaskhabar
Jan 24, 2021 5:58 am
Location
Advertisement

चार दिवसीय वर्चुअल ऑटोमोबाइल आर्ट फेस्टिवल 'कार्टिस्ट फेस्टिवल 2020' का समापन

khaskhabar.com : मंगलवार, 01 दिसम्बर 2020 11:44 AM (IST)
चार दिवसीय वर्चुअल ऑटोमोबाइल आर्ट फेस्टिवल  'कार्टिस्ट फेस्टिवल 2020'  का समापन
जयपुर । कला की कोई सीमा नहीं है और कार्टिस्ट ने इसे साबित कर दिया है। कोविड-19 के इस चुनौतीपूर्ण समय में कार्टिस्ट ने बावजूद कलाकारों को कार्टिट फेस्टिवलका मंच प्रदान करते हुए अपनी विरासत को आगे बढ़ाया है।

कार्टिस्ट के संस्थापक हिमांशु जांगिड़ ने बताया कि यह वर्ष एक कदम आगे बढ़ने का नहीं है, लेकिन निश्चित रूप से अतीत में हमने जो हासिल किया है उसके साथ खड़े होने का है। कार्टिस्ट ने पांच वर्षों की अवधि में अब हमारे पास कलाकारों और ऑटोमोबाइल जगत के लोगों का परिवार है जो हमारा समर्थन करते हैं और हमारी ऑटोमोबाइल कला के माध्यम से योगदान करने के लिए हमसे आशा देखते हैं। इस बार यह फेस्टिवल भले ही वर्चुअल आयोजित किया जा रहा है, लेकिन वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन भी उतना ही थका देने वाला होता है। लेकिन हमनें देखा कि उर्जावान सहयोगियों के उत्साह की वजह से यह पूरी तरह सफल रहा और हमनें कभी हार नहीं मानी।
चार दिवसीय यह फेस्टिवल 27 नवंबर से सस्टेनेबिलिटी थीम पर आयोजित किया गया, जिसका सोमवार को समापन हुआ। इन चार दिनों के दौरान कला व ऑटोमोबाइल जगत की कई प्रमुख हस्तियों द्वारा सस्टेनेबल फ्यूचर के बारे में विचार व्यक्त किए।

हिमांशु जांगिड़ ने बताया कि वर्तमान महामारी की स्थिति को देखते हुए कार्टिस्ट द्वारा महसूस किया गया कि यह वर्तमान समय की आवश्यकता है जब लोगों को अपने घरों से बाहर निकाले बिना अपना कौशल विकसित कर सकते हैं, इसलिए कार्टिस्ट की ओर से वर्चुअल कार्यशालाओं की श्रृंखला तैयार की गई। इनमें कैलीग्राफी, पेपर आर्ट, ओरिगेमी, ट्राइबल आर्ट विद गोंड, वाटर कलर लैंडस्केप, कलर्ड पेंसिल, बियॉन्ड ग्रीन फॉर सस्टेनेबल आर्ट प्रैक्टिसेज, अपसाइकल द टॉय वर्ल्ड, रीपोज्ड प्लास्टिक बॉटल्स, नो योर पेपर, मधुबनी, डिजिटल क्ले स्कल्प्टिंग, स्ट्रीट टाइपोग्राफी, इंट्रोडक्शन टू ऑटोमोबाइल डिजाइन और फड़ पेंटिंग कुछ प्रमुख विषय थे।


एग्जीबिशन में विभिन्न कलाकारों का कलेक्शन डिस्प्ले किया गया, जिनमें रोहन खूंटले द्वारा ई-वेस्ट से बनाए गए कॉर्पाेरेट पार्क मिनिएचर का संग्रह शामिल था। आर्टिस्ट तीर्थ पटेल ने अपनी कलाकृतियां प्रदर्शित की गई, जिनके जरिए उन्होंने बचपन में बसों के आसपास घूमने की यादों को साझा किया। इसी प्रकार रियलिस्टिक पेंटिंग्स व पारंपरिक जोगी आर्ट में विशेषज्ञता रखने वाले किशनगढ़ के आर्टिस्ट राम कुमार की कृतियां भी काफी सराही गई।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

1/2
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement